Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Mar 2024 · 1 min read

हॉं और ना

फूलों में फर्क है
फर्क है
हॉं और ना में भी
जब कोई कहता है- ‘हॉं’
तो वह गिरगिट में
उसी वक्त बदल जाता है,
वो तो सिर्फ ‘ना’ है
जो उसको हमेशा
आदमी बनाये रखता है।

कोई दीवार पर
तो कोई पत्थर पर
‘ना’ लिखता है,
कोई हुकूमत के आगे
भरी सभा में
‘ना’ कहकर चीखता है।

मेरी 53वीं काव्य-कृति : ‘मंथन’ से..

डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति
साहित्य वाचस्पति
बेस्ट पोएट ऑफ दि ईयर।

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 56 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
"राष्टपिता महात्मा गांधी"
Pushpraj Anant
वाणी वंदना
वाणी वंदना
Dr Archana Gupta
आटा
आटा
संजय कुमार संजू
बेसहारों को देख मस्ती में
बेसहारों को देख मस्ती में
Neeraj Mishra " नीर "
चन्द्रयान..…......... चन्द्रमा पर तिरंगा
चन्द्रयान..…......... चन्द्रमा पर तिरंगा
Neeraj Agarwal
प्रीति की राह पर बढ़ चले जो कदम।
प्रीति की राह पर बढ़ चले जो कदम।
surenderpal vaidya
ग़ज़ल _ शबनमी अश्क़ 💦💦
ग़ज़ल _ शबनमी अश्क़ 💦💦
Neelofar Khan
चूरचूर क्यों ना कर चुकी हो दुनिया,आज तूं ख़ुद से वादा कर ले
चूरचूर क्यों ना कर चुकी हो दुनिया,आज तूं ख़ुद से वादा कर ले
Nilesh Premyogi
अति वृष्टि
अति वृष्टि
लक्ष्मी सिंह
गीत
गीत
Shiva Awasthi
मुस्कुराना चाहता हूं।
मुस्कुराना चाहता हूं।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
निंदा
निंदा
Dr fauzia Naseem shad
*रोते-रोते जा रहे, दुनिया से सब लोग (कुंडलिया)*
*रोते-रोते जा रहे, दुनिया से सब लोग (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
बड़ी अजब है जिंदगी,
बड़ी अजब है जिंदगी,
sushil sarna
खेतों में हरियाली बसती
खेतों में हरियाली बसती
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हो हमारी या तुम्हारी चल रही है जिंदगी।
हो हमारी या तुम्हारी चल रही है जिंदगी।
सत्य कुमार प्रेमी
6. *माता-पिता*
6. *माता-पिता*
Dr Shweta sood
सदा किया संघर्ष सरहद पर,विजयी इतिहास हमारा।
सदा किया संघर्ष सरहद पर,विजयी इतिहास हमारा।
Neelam Sharma
वतन में रहने वाले ही वतन को बेचा करते
वतन में रहने वाले ही वतन को बेचा करते
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कड़वा सच
कड़वा सच
Jogendar singh
गीत लिखूं...संगीत लिखूँ।
गीत लिखूं...संगीत लिखूँ।
Priya princess panwar
3073.*पूर्णिका*
3073.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मुझसे गुस्सा होकर
मुझसे गुस्सा होकर
Mr.Aksharjeet
गाछ (लोकमैथिली हाइकु)
गाछ (लोकमैथिली हाइकु)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
Dr Arun Kumar shastri  एक अबोध बालक 🩷😰
Dr Arun Kumar shastri एक अबोध बालक 🩷😰
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बैठाया था जब अपने आंचल में उसने।
बैठाया था जब अपने आंचल में उसने।
Phool gufran
सफलता का सोपान
सफलता का सोपान
Sandeep Pande
"जो होता वही देता"
Dr. Kishan tandon kranti
किसी की हिफाजत में,
किसी की हिफाजत में,
Dr. Man Mohan Krishna
Loading...