Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Feb 2024 · 1 min read

भीतर का तूफान

क्या तेजी दिखाए यह तुफान ?
कितना नुकसान करेगा अपने क्रोध से?
झकझोर दे बेशक, जीवन की सुगमता
हिला दे धरती वृक्षो की, जमी जडे
उठा के पटक दे, मछलियो को
ताल से सडक पर
मजबूर कर दे निडर पशुओ को
दुबक सहम जाने के लिए
चींटी, चूहो, सापों को
अपने घर से बेघर हो जाने के लिए
अपने यौवन मे फल और फूल को
आकस्मिक मौत पाने मे
वो उतना विनाशी कभी नही हो सकता
जो उपजता है इंसा मन के झंझावात से
लालच, कुठा और अभिमान के सैलाब से
जिसका वेग उठाने को कर देता है मजबूर
करने को कत्ल, विस्फोट और युद्ध
नही पसीजता पूरे समाज, संस्कृति के समूल नाश को
रखना ही होगा इंसा को अपने भीतर के तूफान को
भीतर ही कैद करने का जतन
क्योंकि बाहर का तूफान तो कुछ देर ही
तांडव कर शांत हो जाएगा
पर भीतर का तूफान अस्त व्यस्त कर देगा सदा के लिए
अपने साथ अपने पूरे परिवेश को

संदीप पांडे”शिष्य” अजमेर

Language: Hindi
3 Likes · 99 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Sandeep Pande
View all
You may also like:
होना नहीं अधीर
होना नहीं अधीर
surenderpal vaidya
⚘*अज्ञानी की कलम*⚘
⚘*अज्ञानी की कलम*⚘
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
93. ये खत मोहब्बत के
93. ये खत मोहब्बत के
Dr. Man Mohan Krishna
गुमनाम ज़िन्दगी
गुमनाम ज़िन्दगी
Santosh Shrivastava
महान कथाकार प्रेमचन्द की प्रगतिशीलता खण्डित थी, ’बड़े घर की
महान कथाकार प्रेमचन्द की प्रगतिशीलता खण्डित थी, ’बड़े घर की
Dr MusafiR BaithA
करूँ प्रकट आभार।
करूँ प्रकट आभार।
Anil Mishra Prahari
मेरी गुड़िया (संस्मरण)
मेरी गुड़िया (संस्मरण)
Kanchan Khanna
*अहंकार *
*अहंकार *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दशमेश के ग्यारह वचन
दशमेश के ग्यारह वचन
Satish Srijan
शीर्षक : पायजामा (लघुकथा)
शीर्षक : पायजामा (लघुकथा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
रूपमाला
रूपमाला
डॉ.सीमा अग्रवाल
अश्रु से भरी आंँखें
अश्रु से भरी आंँखें
डॉ माधवी मिश्रा 'शुचि'
सुप्रभात
सुप्रभात
डॉक्टर रागिनी
आहुति  चुनाव यज्ञ में,  आओ आएं डाल
आहुति चुनाव यज्ञ में, आओ आएं डाल
Dr Archana Gupta
2842.*पूर्णिका*
2842.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"लकीरों के रंग"
Dr. Kishan tandon kranti
*मीठे बोल*
*मीठे बोल*
Poonam Matia
स्वाल तुम्हारे-जवाब हमारे
स्वाल तुम्हारे-जवाब हमारे
Ravi Ghayal
हर मंजिल के आगे है नई मंजिल
हर मंजिल के आगे है नई मंजिल
कवि दीपक बवेजा
यह बात शायद हमें उतनी भी नहीं चौंकाती,
यह बात शायद हमें उतनी भी नहीं चौंकाती,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
आज के बच्चों की बदलती दुनिया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Love is
Love is
Otteri Selvakumar
लोककवि रामचरन गुप्त के पूर्व में चीन-पाकिस्तान से भारत के हुए युद्ध के दौरान रचे गये युद्ध-गीत
लोककवि रामचरन गुप्त के पूर्व में चीन-पाकिस्तान से भारत के हुए युद्ध के दौरान रचे गये युद्ध-गीत
कवि रमेशराज
मित्रता:समाने शोभते प्रीति।
मित्रता:समाने शोभते प्रीति।
Acharya Rama Nand Mandal
रावण
रावण
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
💐प्रेम कौतुक-543💐
💐प्रेम कौतुक-543💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जवानी के दिन
जवानी के दिन
Sandeep Pande
गैरों से क्या गिला करूं है अपनों से गिला
गैरों से क्या गिला करूं है अपनों से गिला
Ajad Mandori
🌙Chaand Aur Main✨
🌙Chaand Aur Main✨
Srishty Bansal
गीत
गीत
Shiva Awasthi
Loading...