Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2024 · 1 min read

बच्चे कहाँ सोयेंगे…???

माँ ! माँ !
आसमान में काले बादल आ गये
अब तेज बारिश होगी
हम पानी में नाव चलायेंगे
शोर मचाते हुए बच्चे
कागज की नाव बनाने लगे
और माँ ~
बच्चों के खुशी के चमकते चेहरों
और ~
झोपड़ी के टूटे-फूटे छप्पर
को देखती, सोचने लगी –
अगर सचमुच बरसात होगी
पानी बरसेगा, छप्पर टपकेगा
बच्चे कहाँ सोयेंगे…???

रचनाकार :- कंचन खन्ना,
मुरादाबाद, (उ०प्र०, भारत) ।
वर्ष :- २०१३.

Language: Hindi
86 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Kanchan Khanna
View all
You may also like:
किसान मजदूर होते जा रहे हैं।
किसान मजदूर होते जा रहे हैं।
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
निरीह गौरया
निरीह गौरया
Dr.Pratibha Prakash
#गणितीय प्रेम
#गणितीय प्रेम
हरवंश हृदय
संयम
संयम
RAKESH RAKESH
अगे माई गे माई ( मगही कविता )
अगे माई गे माई ( मगही कविता )
Ranjeet Kumar
दिन गुज़रते रहे रात होती रही।
दिन गुज़रते रहे रात होती रही।
डॉक्टर रागिनी
सोच विभाजनकारी हो
सोच विभाजनकारी हो
*Author प्रणय प्रभात*
तजो आलस तजो निद्रा, रखो मन भावमय चेतन।
तजो आलस तजो निद्रा, रखो मन भावमय चेतन।
डॉ.सीमा अग्रवाल
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
शबे दर्द जाती नही।
शबे दर्द जाती नही।
Taj Mohammad
गजल सगीर
गजल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
खेत -खलिहान
खेत -खलिहान
नाथ सोनांचली
- मर चुकी इंसानियत -
- मर चुकी इंसानियत -
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
आप अपने मन को नियंत्रित करना सीख जाइए,
आप अपने मन को नियंत्रित करना सीख जाइए,
Mukul Koushik
अगर मध्यस्थता हनुमान (परमार्थी) की हो तो बंदर (बाली)और दनुज
अगर मध्यस्थता हनुमान (परमार्थी) की हो तो बंदर (बाली)और दनुज
Sanjay ' शून्य'
अरमान गिर पड़े थे राहों में
अरमान गिर पड़े थे राहों में
सिद्धार्थ गोरखपुरी
🌹ओ साहिब जी,तुम मेरे दिल में जँचे हो🌹
🌹ओ साहिब जी,तुम मेरे दिल में जँचे हो🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
*अक्षय धन किसको कहें, अक्षय का क्या अर्थ (कुंडलिया)*
*अक्षय धन किसको कहें, अक्षय का क्या अर्थ (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
....????
....????
शेखर सिंह
हर एक नागरिक को अपना, सर्वश्रेष्ठ देना होगा
हर एक नागरिक को अपना, सर्वश्रेष्ठ देना होगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ऐ वतन....
ऐ वतन....
Anis Shah
जीवन समर्पित करदो.!
जीवन समर्पित करदो.!
Prabhudayal Raniwal
Khahisho ki kashti me savar hokar ,
Khahisho ki kashti me savar hokar ,
Sakshi Tripathi
रिश्ता ऐसा हो,
रिश्ता ऐसा हो,
लक्ष्मी सिंह
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
आया बाढ नग पहाड़ पे🌷✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
एक बार हीं
एक बार हीं
Shweta Soni
****उज्जवल रवि****
****उज्जवल रवि****
Kavita Chouhan
The enchanting whistle of the train.
The enchanting whistle of the train.
Manisha Manjari
धार्मिक सौहार्द एवम मानव सेवा के अद्भुत मिसाल सौहार्द शिरोमणि संत श्री सौरभ
धार्मिक सौहार्द एवम मानव सेवा के अद्भुत मिसाल सौहार्द शिरोमणि संत श्री सौरभ
World News
Loading...