Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2024 · 1 min read

गाय

रोम-रोम में देव बसे है ,गाय हमारी माता है।
परम पूज्य पाप हारिणी माँ, सबसे परम् पुनीता है।

दूध-दही घी-मक्खन औषधि , सकल रूप गुणकारक है।
स्वस्थ प्रदायक , मंगल कारक , समूल रोग निवारक है।

गोबर के खाद से उर्वरा , हर खेत लहलहाती है।
तन की चमड़ी भी यह अपनी , हमको अर्पित करती है।

गौ माता के बैलों द्वारा , अन्न वस्र हम पाते हैं।
इनके अमृत को पीकर के , बल-शाली बन जाते हैं ।

जो जन इनकी सेवा करते , भव सागर तर जाते हैं ।
वेद-पुराण-उपनिषद भी तो , इसकी महिमा गाते हैं ।

नर-पिशाच बन गौ माता की , हत्या करते नाहक है।
गौ वध बंद करो जल्दी अब , गौ वध भारी पातक है।

-वेधा सिंह
-कक्षा पांचवीं

Language: Hindi
81 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
खेत का सांड
खेत का सांड
आनन्द मिश्र
महक कहां बचती है
महक कहां बचती है
Surinder blackpen
छैल छबीली
छैल छबीली
Mahesh Tiwari 'Ayan'
हमें तो देखो उस अंधेरी रात का भी इंतजार होता है
हमें तो देखो उस अंधेरी रात का भी इंतजार होता है
VINOD CHAUHAN
सभी फैसले अपने नहीं होते,
सभी फैसले अपने नहीं होते,
शेखर सिंह
प्रीतघोष है प्रीत का, धड़कन  में  नव  नाद ।
प्रीतघोष है प्रीत का, धड़कन में नव नाद ।
sushil sarna
एक चिंगारी ही काफी है शहर को जलाने के लिए
एक चिंगारी ही काफी है शहर को जलाने के लिए
कवि दीपक बवेजा
दिवाली त्योहार का महत्व
दिवाली त्योहार का महत्व
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
23/199. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/199. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मां कालरात्रि
मां कालरात्रि
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जाने क्यों तुमसे मिलकर भी
जाने क्यों तुमसे मिलकर भी
Sunil Suman
अगर तूँ यूँहीं बस डरती रहेगी
अगर तूँ यूँहीं बस डरती रहेगी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जन्म दिवस
जन्म दिवस
Aruna Dogra Sharma
Rebel
Rebel
Shekhar Chandra Mitra
दोस्त ना रहा ...
दोस्त ना रहा ...
Abasaheb Sarjerao Mhaske
वो दो साल जिंदगी के (2010-2012)
वो दो साल जिंदगी के (2010-2012)
Shyam Pandey
तलाश
तलाश
Vandna Thakur
■ बस, एक ही अनुरोध...
■ बस, एक ही अनुरोध...
*Author प्रणय प्रभात*
Jin kandho par bachpan bita , us kandhe ka mol chukana hai,
Jin kandho par bachpan bita , us kandhe ka mol chukana hai,
Sakshi Tripathi
"मेरी दुनिया"
Dr Meenu Poonia
अक्सर हम ज़िन्दगी में इसलिए भी अकेले होते हैं क्योंकि हमारी ह
अक्सर हम ज़िन्दगी में इसलिए भी अकेले होते हैं क्योंकि हमारी ह
पूर्वार्थ
💐 *दोहा निवेदन*💐
💐 *दोहा निवेदन*💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
और तो क्या ?
और तो क्या ?
gurudeenverma198
Jo Apna Nahin 💔💔
Jo Apna Nahin 💔💔
Yash mehra
"ग्लैमर"
Dr. Kishan tandon kranti
मायूस ज़िंदगी
मायूस ज़िंदगी
Ram Babu Mandal
भोर पुरानी हो गई
भोर पुरानी हो गई
आर एस आघात
***
*** " मन मेरा क्यों उदास है....? " ***
VEDANTA PATEL
वैश्विक जलवायु परिवर्तन और मानव जीवन पर इसका प्रभाव
वैश्विक जलवायु परिवर्तन और मानव जीवन पर इसका प्रभाव
Shyam Sundar Subramanian
शाम सुहानी
शाम सुहानी
लक्ष्मी सिंह
Loading...