Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ग़ज़ल (गज़ब हैं रंग जीबन के)

ग़ज़ल (गज़ब हैं रंग जीबन के)

गज़ब हैं रंग जीबन के गजब किस्से लगा करते
जबानी जब कदम चूमे बचपन छूट जाता है

बंगला ,कार, ओहदे को पाने के ही चक्कर में
सीधा सच्चा बच्चों का आचरण छूट जाता है

जबानी के नशें में लोग क्या क्या ना किया करते
ढलते ही जबानी के बुढ़ापा टूट जाता है

समय के साथ बहना ही असल तो यार जीबन है
समय को गर नहीं समझे समय फिर रूठ जाता है

जियो ऐसे कि औरों को भी जीने का मजा आये
मदन ,जीबन क्या ,बुलबुला है, आखिर फुट जाता है

ग़ज़ल (गज़ब हैं रंग जीबन के)

मदन मोहन सक्सेना

118 Views
You may also like:
दिल की ख्वाहिशें।
Taj Mohammad
जाने वाले बस कदमों के निशाँ छोड़ जाते हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
स्थापना के 42 वर्ष
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
टोकरी में छोकरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ऐ वतन!
अनामिका सिंह
कौन थाम लेता है ?
DESH RAJ
सुर बिना संगीत सूना.!
Prabhudayal Raniwal
✍️✍️रूपया✍️✍️
"अशांत" शेखर
दुखो की नैया
AMRESH KUMAR VERMA
✍️KITCHEN✍️
"अशांत" शेखर
मेरी जिन्दगी से।
Taj Mohammad
इश्क।
Taj Mohammad
✍️✍️तो सूर्य✍️✍️
"अशांत" शेखर
मायका
अनामिका सिंह
मुझको मालूम नहीं
gurudeenverma198
खोकर के अपनो का विश्वास...। (भाग -1)
Buddha Prakash
हरियाली और बंजर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
“ मेरे राम ”
DESH RAJ
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
स्वर कोकिला
AMRESH KUMAR VERMA
ये दिल धड़कता नही अब तुम्हारे बिना
Ram Krishan Rastogi
आ सजाऊँ भाल पर चंदन तरुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️जिद्द..!✍️
"अशांत" शेखर
जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*हिम्मत मत हारो ( गीत )*
Ravi Prakash
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
खुश रहे आप आबाद हो
gurudeenverma198
✍️जश्न-ए-चराग़ाँ✍️
"अशांत" शेखर
दिल मे कौन रहता है..?
N.ksahu0007@writer
Loading...