Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2024 · 1 min read

“हमदर्दी”

“हमदर्दी”
हमदर्दी ना करो हमसे
ऐ मेरे हमदर्द,
दर्द से निजात मिले
वो रुख अख्तियार करो.

1 Like · 1 Comment · 42 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
सुनो मोहतरमा..!!
सुनो मोहतरमा..!!
Surya Barman
तुम - दीपक नीलपदम्
तुम - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
वक़्त ने जिनकी
वक़्त ने जिनकी
Dr fauzia Naseem shad
पृथ्वी दिवस
पृथ्वी दिवस
Bodhisatva kastooriya
17== 🌸धोखा 🌸
17== 🌸धोखा 🌸
Mahima shukla
#प्रसंगवश...
#प्रसंगवश...
*प्रणय प्रभात*
फिदरत
फिदरत
Swami Ganganiya
तब जानोगे
तब जानोगे
विजय कुमार नामदेव
2724.*पूर्णिका*
2724.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कई वर्षों से ठीक से होली अब तक खेला नहीं हूं मैं /लवकुश यादव
कई वर्षों से ठीक से होली अब तक खेला नहीं हूं मैं /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
आया यह मृदु - गीत कहाँ से!
आया यह मृदु - गीत कहाँ से!
Anil Mishra Prahari
रुके ज़माना अगर यहां तो सच छुपना होगा।
रुके ज़माना अगर यहां तो सच छुपना होगा।
Phool gufran
बिलकुल सच है, व्यस्तता एक भ्रम है, दोस्त,
बिलकुल सच है, व्यस्तता एक भ्रम है, दोस्त,
पूर्वार्थ
यदि कोई आपके मैसेज को सीन करके उसका प्रत्युत्तर न दे तो आपको
यदि कोई आपके मैसेज को सीन करके उसका प्रत्युत्तर न दे तो आपको
Rj Anand Prajapati
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
नीला सफेद रंग सच और रहस्य का सहयोग हैं
Neeraj Agarwal
"तुम्हें राहें मुहब्बत की अदाओं से लुभाती हैं
आर.एस. 'प्रीतम'
क्योंकि मै प्रेम करता हु - क्योंकि तुम प्रेम करती हो
क्योंकि मै प्रेम करता हु - क्योंकि तुम प्रेम करती हो
Basant Bhagawan Roy
Bundeli Doha-Anmane
Bundeli Doha-Anmane
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जला रहा हूँ ख़ुद को
जला रहा हूँ ख़ुद को
Akash Yadav
पहचान
पहचान
Dr.Priya Soni Khare
"जीवन"
Dr. Kishan tandon kranti
कभी लगते थे, तेरे आवाज़ बहुत अच्छे
कभी लगते थे, तेरे आवाज़ बहुत अच्छे
Anand Kumar
अरुणोदय
अरुणोदय
Manju Singh
*शरीर : आठ दोहे*
*शरीर : आठ दोहे*
Ravi Prakash
*चुनाव से पहले नेता जी बातों में तार गए*
*चुनाव से पहले नेता जी बातों में तार गए*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
जय श्रीकृष्ण । ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः ।
जय श्रीकृष्ण । ॐ नमो भगवते वासुदेवाय नमः ।
Raju Gajbhiye
जब भी अपनी दांत दिखाते
जब भी अपनी दांत दिखाते
AJAY AMITABH SUMAN
सफलता
सफलता
Paras Nath Jha
जुल्मतों के दौर में
जुल्मतों के दौर में
Shekhar Chandra Mitra
ये दिल न जाने क्या चाहता है...
ये दिल न जाने क्या चाहता है...
parvez khan
Loading...