Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Sep 2023 · 1 min read

हंसगति

हंसगति

कुसुमित जग की डार, फले अरु फूले।
आशा पंख पसार, उड़े नभ छू ले।
सुखद सँदेशे रोज, चले घर आएँ।
बरसें सुख के मेघ, खुशी सब पाएँ।

© सीमा अग्रवाल

4 Likes · 237 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ.सीमा अग्रवाल
View all
You may also like:
बिना पंख फैलाये पंछी को दाना नहीं मिलता
बिना पंख फैलाये पंछी को दाना नहीं मिलता
Anil Mishra Prahari
किसान का दर्द
किसान का दर्द
Tarun Singh Pawar
वो सुहाने दिन
वो सुहाने दिन
Aman Sinha
साँझ ढले ही आ बसा, पलकों में अज्ञात।
साँझ ढले ही आ बसा, पलकों में अज्ञात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
मैं भविष्य की चिंता में अपना वर्तमान नष्ट नहीं करता क्योंकि
मैं भविष्य की चिंता में अपना वर्तमान नष्ट नहीं करता क्योंकि
Rj Anand Prajapati
लहू जिगर से बहा फिर
लहू जिगर से बहा फिर
Shivkumar Bilagrami
2972.*पूर्णिका*
2972.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
★भारतीय किसान★
★भारतीय किसान★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
*जातक या संसार मा*
*जातक या संसार मा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
लोककवि रामचरन गुप्त के पूर्व में चीन-पाकिस्तान से भारत के हुए युद्ध के दौरान रचे गये युद्ध-गीत
लोककवि रामचरन गुप्त के पूर्व में चीन-पाकिस्तान से भारत के हुए युद्ध के दौरान रचे गये युद्ध-गीत
कवि रमेशराज
मंजिलें
मंजिलें
Mukesh Kumar Sonkar
प्यारी मेरी बहना
प्यारी मेरी बहना
Buddha Prakash
"नए पुराने नाम"
Dr. Kishan tandon kranti
रिश्ते बनाना आसान है
रिश्ते बनाना आसान है
shabina. Naaz
कबीर: एक नाकाम पैगंबर
कबीर: एक नाकाम पैगंबर
Shekhar Chandra Mitra
दिल का हाल
दिल का हाल
पूर्वार्थ
साँसों का संग्राम है, उसमें लाखों रंग।
साँसों का संग्राम है, उसमें लाखों रंग।
Suryakant Dwivedi
गरीबों की शिकायत लाजमी है। अभी भी दूर उनसे रोशनी है। ❤️ अपना अपना सिर्फ करना। बताओ यह भी कोई जिंदगी है। ❤️
गरीबों की शिकायत लाजमी है। अभी भी दूर उनसे रोशनी है। ❤️ अपना अपना सिर्फ करना। बताओ यह भी कोई जिंदगी है। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ତୁମ ର ହସ
ତୁମ ର ହସ
Otteri Selvakumar
पांव में मेंहदी लगी है
पांव में मेंहदी लगी है
Surinder blackpen
धरा की प्यास पर कुंडलियां
धरा की प्यास पर कुंडलियां
Ram Krishan Rastogi
शिष्टाचार
शिष्टाचार
लक्ष्मी सिंह
अहमियत इसको
अहमियत इसको
Dr fauzia Naseem shad
खुद को इतना मजबूत बनाइए कि लोग आपसे प्यार करने के लिए मजबूर
खुद को इतना मजबूत बनाइए कि लोग आपसे प्यार करने के लिए मजबूर
ruby kumari
" ज़ेल नईखे सरल "
Chunnu Lal Gupta
सुखदाई सबसे बड़ी, निद्रा है वरदान (कुंडलिया)*
सुखदाई सबसे बड़ी, निद्रा है वरदान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"शुद्ध हृदय सबके रहें,
*Author प्रणय प्रभात*
आ जाओ
आ जाओ
हिमांशु Kulshrestha
Loading...