Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Mar 2024 · 1 min read

सज्जन से नादान भी, मिलकर बने महान।

सज्जन से नादान भी, मिलकर बने महान।
लोहे पर पारस घिसो, सोने जैसी शान।।

आर. एस. ‘प्रीतम’

2 Likes · 44 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from आर.एस. 'प्रीतम'
View all
You may also like:
लक्ष्मी अग्रिम भाग में,
लक्ष्मी अग्रिम भाग में,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
लड़की की जिंदगी/ कन्या भूर्ण हत्या
लड़की की जिंदगी/ कन्या भूर्ण हत्या
Raazzz Kumar (Reyansh)
आंख में बेबस आंसू
आंख में बेबस आंसू
Dr. Rajeev Jain
होता नहीं कम काम
होता नहीं कम काम
जगदीश लववंशी
महानगर की जिंदगी और प्राकृतिक परिवेश
महानगर की जिंदगी और प्राकृतिक परिवेश
कार्तिक नितिन शर्मा
मजदूर की बरसात
मजदूर की बरसात
goutam shaw
विश्व कविता दिवस
विश्व कविता दिवस
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
2718.*पूर्णिका*
2718.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"सब्र"
Dr. Kishan tandon kranti
👌बोगस न्यूज़👌
👌बोगस न्यूज़👌
*Author प्रणय प्रभात*
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
कौन हूँ मैं ?
कौन हूँ मैं ?
पूनम झा 'प्रथमा'
पतंग को हवा की दिशा में उड़ाओगे तो बहुत दूर तक जाएगी नहीं तो
पतंग को हवा की दिशा में उड़ाओगे तो बहुत दूर तक जाएगी नहीं तो
Rj Anand Prajapati
जन्माष्टमी महोत्सव
जन्माष्टमी महोत्सव
Neeraj Agarwal
" चर्चा चाय की "
Dr Meenu Poonia
शुभं करोति कल्याणं आरोग्यं धनसंपदा।
शुभं करोति कल्याणं आरोग्यं धनसंपदा।
अनिल "आदर्श"
सामाजिक न्याय के प्रश्न
सामाजिक न्याय के प्रश्न
Shekhar Chandra Mitra
चमकते तारों में हमने आपको,
चमकते तारों में हमने आपको,
Ashu Sharma
कभी मिलो...!!!
कभी मिलो...!!!
Kanchan Khanna
खेल खेल में छूट न जाए जीवन की ये रेल।
खेल खेल में छूट न जाए जीवन की ये रेल।
सत्य कुमार प्रेमी
बात न बनती युद्ध से, होता बस संहार।
बात न बनती युद्ध से, होता बस संहार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
बम से दुश्मन मार गिराए( बाल कविता )
बम से दुश्मन मार गिराए( बाल कविता )
Ravi Prakash
ज़िंदगी की कँटीली राहों पर
ज़िंदगी की कँटीली राहों पर
Shweta Soni
हनुमान वंदना । अंजनी सुत प्रभु, आप तो विशिष्ट हो।
हनुमान वंदना । अंजनी सुत प्रभु, आप तो विशिष्ट हो।
Kuldeep mishra (KD)
साथ चली किसके भला,
साथ चली किसके भला,
sushil sarna
पेड़ काट निर्मित किए, घुटन भरे बहु भौन।
पेड़ काट निर्मित किए, घुटन भरे बहु भौन।
विमला महरिया मौज
प्रस्फुटन
प्रस्फुटन
DR ARUN KUMAR SHASTRI
'मजदूर'
'मजदूर'
Godambari Negi
अगर आपको सरकार के कार्य दिखाई नहीं दे रहे हैं तो हमसे सम्पर्
अगर आपको सरकार के कार्य दिखाई नहीं दे रहे हैं तो हमसे सम्पर्
Anand Kumar
सर्वनाम के भेद
सर्वनाम के भेद
Neelam Sharma
Loading...