Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jan 2024 · 1 min read

“संयम की रस्सी”

“संयम की रस्सी”
आदतें यदि आपको परेशान करती हैं, दुःख या तकलीफ देती हैं तो उसे संयम की रस्सी से बांधना उचित है। इससे लक्ष्य प्राप्त करना आसान होगा।

7 Likes · 4 Comments · 112 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
* गीत प्यारा गुनगुनायें *
* गीत प्यारा गुनगुनायें *
surenderpal vaidya
चाय कलियुग का वह अमृत है जिसके साथ बड़ी बड़ी चर्चाएं होकर बड
चाय कलियुग का वह अमृत है जिसके साथ बड़ी बड़ी चर्चाएं होकर बड
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
*चंद्रयान ने छू लिया, दक्षिण ध्रुव में चॉंद*
*चंद्रयान ने छू लिया, दक्षिण ध्रुव में चॉंद*
Ravi Prakash
"होली है आई रे"
Rahul Singh
राम
राम
Suraj Mehra
बढ़ता कदम बढ़ाता भारत
बढ़ता कदम बढ़ाता भारत
AMRESH KUMAR VERMA
अधूरी कहानी (कविता)
अधूरी कहानी (कविता)
Monika Yadav (Rachina)
फ़ितरतन
फ़ितरतन
Monika Verma
#दोहा
#दोहा
*प्रणय प्रभात*
*धनतेरस का त्यौहार*
*धनतेरस का त्यौहार*
Harminder Kaur
पग न अब पीछे मुड़ेंगे...
पग न अब पीछे मुड़ेंगे...
डॉ.सीमा अग्रवाल
"सबसे बढ़कर"
Dr. Kishan tandon kranti
ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो
ख्वाबों में मेरे इस तरह न आया करो
Ram Krishan Rastogi
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सफ़र ज़िंदगी का आसान कीजिए
सफ़र ज़िंदगी का आसान कीजिए
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
माँ मुझे विश्राम दे
माँ मुझे विश्राम दे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
हाँ, क्या नहीं किया इसके लिए मैंने
हाँ, क्या नहीं किया इसके लिए मैंने
gurudeenverma198
माँ जब भी दुआएं देती है
माँ जब भी दुआएं देती है
Bhupendra Rawat
" मैं सिंह की दहाड़ हूँ। "
Saransh Singh 'Priyam'
वक़्त गुज़रे तो
वक़्त गुज़रे तो
Dr fauzia Naseem shad
जीवन में चुनौतियां हर किसी
जीवन में चुनौतियां हर किसी
नेताम आर सी
*बदलता_है_समय_एहसास_और_नजरिया*
*बदलता_है_समय_एहसास_और_नजरिया*
sudhir kumar
यही मेरे दिल में ख्याल चल रहा है तुम मुझसे ख़फ़ा हो या मैं खुद
यही मेरे दिल में ख्याल चल रहा है तुम मुझसे ख़फ़ा हो या मैं खुद
Ravi Betulwala
जिन्दगी की पाठशाला
जिन्दगी की पाठशाला
Ashokatv
सृजन पथ पर
सृजन पथ पर
Dr. Meenakshi Sharma
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/114.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
सुप्रभात
सुप्रभात
डॉक्टर रागिनी
अब कुछ चलाकिया तो समझ आने लगी है मुझको
अब कुछ चलाकिया तो समझ आने लगी है मुझको
शेखर सिंह
अहंकार अभिमान रसातल की, हैं पहली सीढ़ी l
अहंकार अभिमान रसातल की, हैं पहली सीढ़ी l
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
।।  अपनी ही कीमत।।
।। अपनी ही कीमत।।
Madhu Mundhra Mull
Loading...