Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 May 2024 · 1 min read

शालीनता की गणित

जो रात आज मैं रुक जाती
और कहो क्या कह पाते ?
दुशाला शालीनता की
क्या ओढ़े तुम रह पाते?

कितने सवाल, कितनी शंका,
याद है सीता मां और लंका?

काजल की उस कालिख को ,
बनने से पहले हि मिटा दें,
आओ हम तुम ये तय करलें
कितनी दूरी और बढ़ा लें?

कितनी सासें साथ में लेंगे ?
कितनी बार मिलेंगे खुलकर ?
कितनी दफा समा लोगे बाँहों में ?
दुनियादारी सब भूलकर!

कब – कब हम -तुम हंस पाएंगे ?
साथ में नीले नभ के नीचे,
कब निहारेंगे उदय होते सूरज को ?
बैठ किसी पर्वत के पीछेI

हमें तो कैसे भी जीना है !
हमें तो ऐसे ही जीना है !
रह मर्यादा की परिधि में
प्रेम की मदिरा को पीना है !

Language: Hindi
31 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
View all
You may also like:
जब मैं मंदिर गया,
जब मैं मंदिर गया,
नेताम आर सी
कह कोई ग़ज़ल
कह कोई ग़ज़ल
Shekhar Chandra Mitra
एक कविता उनके लिए
एक कविता उनके लिए
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
#स्वागतम
#स्वागतम
*प्रणय प्रभात*
दशरथ माँझी संग हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
दशरथ माँझी संग हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
जगदाधार सत्य
जगदाधार सत्य
महेश चन्द्र त्रिपाठी
"नमक का खारापन"
Dr. Kishan tandon kranti
एक तरफ तो तुम
एक तरफ तो तुम
Dr Manju Saini
चोर उचक्के बेईमान सब, सेवा करने आए
चोर उचक्के बेईमान सब, सेवा करने आए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मौहब्बत में किसी के गुलाब का इंतजार मत करना।
मौहब्बत में किसी के गुलाब का इंतजार मत करना।
Phool gufran
झूठ का अंत
झूठ का अंत
Shyam Sundar Subramanian
दिल
दिल
इंजी. संजय श्रीवास्तव
राम की रहमत
राम की रहमत
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
कश्मकश
कश्मकश
swati katiyar
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
ज़िंदगी का सफ़र
ज़िंदगी का सफ़र
Dr fauzia Naseem shad
मां चंद्रघंटा
मां चंद्रघंटा
Mukesh Kumar Sonkar
मेला झ्क आस दिलों का ✍️✍️
मेला झ्क आस दिलों का ✍️✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
"दुखती रग.." हास्य रचना
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
गणेश जी का हैप्पी बर्थ डे
गणेश जी का हैप्पी बर्थ डे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
दर्द आँखों में आँसू  बनने  की बजाय
दर्द आँखों में आँसू बनने की बजाय
शिव प्रताप लोधी
2948.*पूर्णिका*
2948.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पूरी निष्ठा से सदा,
पूरी निष्ठा से सदा,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"अल्फाज दिल के "
Yogendra Chaturwedi
As I grow up I realized that life will test you so many time
As I grow up I realized that life will test you so many time
पूर्वार्थ
जब एक शख्स लगभग पैंतालीस वर्ष के थे तब उनकी पत्नी का स्वर्गव
जब एक शख्स लगभग पैंतालीस वर्ष के थे तब उनकी पत्नी का स्वर्गव
Rituraj shivem verma
यही सोचकर आँखें मूँद लेता हूँ कि.. कोई थी अपनी जों मुझे अपना
यही सोचकर आँखें मूँद लेता हूँ कि.. कोई थी अपनी जों मुझे अपना
Ravi Betulwala
हां....वो बदल गया
हां....वो बदल गया
Neeraj Agarwal
दोस्तो जिंदगी में कभी कभी ऐसी परिस्थिति आती है, आप चाहे लाख
दोस्तो जिंदगी में कभी कभी ऐसी परिस्थिति आती है, आप चाहे लाख
Sunil Maheshwari
Loading...