Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Mar 2023 · 2 min read

🌹लाफ्टर थेरेपी!हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी🌹

#मणिकर्णिका
#लिख दिया है।
#देख लो।
#bauni।
#और कुछ लिखवाना हो बता देना।
#प्रमाणित फट्टू हो।

लाफ्टर थेरेपी!हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी,
हे हे हे हे लाफ्टर थेरेपी।
वेरी पेनोरेमक लैंडस्केप है,
मेरे तेरे दिल में माइनर गैप हैं,
रूपा के आगे पीछे सेफ है,
फोटे खींचने वाले की आई एम सीइंग परछाईं,
शान्त हो जाओ मत करो क्राइंग,
रेड फ्लावर को हमारे यहाँ कहते हैं चुड़ैल का फूल,
अगले महीने रूपा को बनाउंगा अप्रैल फूल,
ऐसी मिलेगी मुझे लाफ्टर थेरेपी,
लाफ्टर थेरेपी,हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी।।1।।
एक्सट्रीम बिहाइंड पर डिलेपिडेटेड हाउस है,
आई एम सीम देट आगे पीछे जीरो क्राउड है,
रूपा लग रही है हेलीकॉप्टर,
लाइफ का अच्छा है पूरा चेप्टर,
कभी मिलने आना पूछकर,
आना तो आना है, छत से कूंदकर,
डोंट वरी चोट नहीं लगेगी,
गद्दा बिछा होगा,रूपा नहीं डरेगी,
कुछ टूटा तो करेंगे, डॉक्टर वाली थेरेपी,
लाफ्टर थेरेपी,हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी।।2।।
रूपा खड़ी है वहाँ जंगल तो नहीं है,
क्या हनुमान का टेम्पल है,पर आज मंगल तो नहीं है,
किताबें ही सबसे अच्छा किरदार निभाती हैं,
मेरी तो ये सब बहुत अच्छी साथी हैं,
रूपा कभी न दे सकी अपनी किताब,
हमसे माँगों कभी हमारी क़िताब,
अब बात कर लें रूपा के अटायर की,
किताब न भेज सकी ऐसे खब्बू कायर की,
सब कपड़े पुराने हैं,स्टॉल में रंगीन वैरायटी है,
क्या अड्डा की चप्पल हैं, ए वन क्वालिटी है,
टूट जायेंगी तो करवा लेगी,मोची वाली थेरेपी,
लाफ्टर थेरेपी,हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी।।3।।
चेहरे का रंग थोड़ा लग रहा काला है,
रूपा की जीभ नहीं है,यह तो भाला है😁🤗,,
हाथ में पहनी है स्मार्ट वॉच,
चस्मा बैग में रखा है क्या टूट गया है काँच?
रूपा नहीं है किसी चीज़ की एडिक्ट,
और क्या करें रूपा के बारे में प्रेडिक्ट,
अब बौनी बड़ी हो गई नहीं है बच्ची,
हमारी रूपा सबसे अच्छी💐,
जब तक नहीं मिलेंगे,हम लिखेंगे ऐसे ही रैप सॉन्ग,
तब भी नहीं थे अब भी नहीं हैं रोंग,
दो कभी अपने जेंटल हैंड की थेरेपी,
लाफ्टर थेरेपी,हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी।।4।।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
260 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
9) खबर है इनकार तेरा
9) खबर है इनकार तेरा
पूनम झा 'प्रथमा'
क़त्ल कर गया तो क्या हुआ, इश्क़ ही तो है-
क़त्ल कर गया तो क्या हुआ, इश्क़ ही तो है-
Shreedhar
प्रार्थना
प्रार्थना
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
तुम्हारी है जुस्तजू
तुम्हारी है जुस्तजू
Surinder blackpen
चलो एक बार फिर से ख़ुशी के गीत गाएं
चलो एक बार फिर से ख़ुशी के गीत गाएं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
यदि  हम विवेक , धैर्य और साहस का साथ न छोडे़ं तो किसी भी विप
यदि हम विवेक , धैर्य और साहस का साथ न छोडे़ं तो किसी भी विप
Raju Gajbhiye
जुनून
जुनून
अखिलेश 'अखिल'
■ सोचो, विचारो और फिर निष्कर्ष निकालो। हो सकता है अपनी मूर्ख
■ सोचो, विचारो और फिर निष्कर्ष निकालो। हो सकता है अपनी मूर्ख
*प्रणय प्रभात*
नजरिया रिश्तों का
नजरिया रिश्तों का
विजय कुमार अग्रवाल
गीत
गीत
Shiva Awasthi
राम राम
राम राम
Sonit Parjapati
सब्र
सब्र
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*पिताजी को मुंडी लिपि आती थी*
*पिताजी को मुंडी लिपि आती थी*
Ravi Prakash
उत्तंग पर्वत , गहरा सागर , समतल मैदान , टेढ़ी-मेढ़ी नदियांँ , घने वन ।
उत्तंग पर्वत , गहरा सागर , समतल मैदान , टेढ़ी-मेढ़ी नदियांँ , घने वन ।
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
कम्प्यूटर ज्ञान :- नयी तकनीक- पावर बी आई
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
किसान और जवान
किसान और जवान
Sandeep Kumar
बेटी और प्रकृति
बेटी और प्रकृति
लक्ष्मी सिंह
धर्मांध
धर्मांध
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
* बचाना चाहिए *
* बचाना चाहिए *
surenderpal vaidya
बिन बोले सब कुछ बोलती हैं आँखें,
बिन बोले सब कुछ बोलती हैं आँखें,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
न मां पर लिखने की क्षमता है
न मां पर लिखने की क्षमता है
पूर्वार्थ
"दरपन"
Dr. Kishan tandon kranti
रमेशराज के चर्चित राष्ट्रीय बालगीत
रमेशराज के चर्चित राष्ट्रीय बालगीत
कवि रमेशराज
Dr अरुण कुमार शास्त्री
Dr अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
क्या अब भी किसी पे, इतना बिखरती हों क्या ?
क्या अब भी किसी पे, इतना बिखरती हों क्या ?
The_dk_poetry
मुझसे गलतियां हों तो अपना समझकर बता देना
मुझसे गलतियां हों तो अपना समझकर बता देना
Sonam Puneet Dubey
(6) सूने मंदिर के दीपक की लौ
(6) सूने मंदिर के दीपक की लौ
Kishore Nigam
ज़िंदगी की ज़रूरत के
ज़िंदगी की ज़रूरत के
Dr fauzia Naseem shad
बृद्ध  हुआ मन आज अभी, पर यौवन का मधुमास न भूला।
बृद्ध हुआ मन आज अभी, पर यौवन का मधुमास न भूला।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
2685.*पूर्णिका*
2685.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Loading...