Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 May 2016 · 1 min read

*बेटी*

बेटी नहीं है कोई बोझ
फिर क्यूँ कोख में मरे ये रोज?
ईश्वर का वरदान है बेटी
सकल गुणों की खान है बेटी
मात-पिता की जान है बेटी
बेटों से भी महान है बेटी
घर को स्वर्ग बनाती बेटी
गम में भी मुस्काती बेटी
गीत खुशी के गाती बेटी
दुखड़ा कभी न सुनाती बेटी
इनसे ही है घर में मौज
करो ना इनको तुम जमींदोज
बेटी नहीं है कोई बोझ
फिर क्यूँ कोख में मरे ये रोज?
*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

Language: Hindi
Tag: कविता
378 Views
You may also like:
रूको भला तब जाना
Varun Singh Gautam
तुम्हारे रुख़सार यूँ दमकते
Anis Shah
संगीत
Surjeet Kumar
हेलो पापा ! हेलो पापा !
Buddha Prakash
दुःख का कारण
Dr fauzia Naseem shad
Bhuneshwar Sinha Congress leader Chhattisgarh. bhuneshwar sinha politician chattisgarh
Bramhastra sahityapedia
😊 आज की बात :--
*Author प्रणय प्रभात*
।। अंतर ।।
Skanda Joshi
" बुलबुला "
Dr Meenu Poonia
ओ मेरे !....
ईश्वर दयाल गोस्वामी
💥प्रेम की राह पर-69💥
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सफलता की आधारशिला सच्चा पुरुषार्थ
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
भिखारी छंद एवं विधाएँ
Subhash Singhai
*पत्रिका समीक्षा*
Ravi Prakash
पेड़
Sushil chauhan
भक्ता (#लोकमैथिली_हाइकु)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
तू रूह में मेरी कुछ इस तरह समा रहा है।
Taj Mohammad
दिल के टूटने की सदाओं से वादियों को गुंजाती हैं,...
Manisha Manjari
मां के आंचल
Nitu Sah
भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सांसे चले अब तुमसे
Rj Anand Prajapati
शख्सियत - मॉं भारती की सेवा के लिए समर्पित योद्धा...
Deepak Kumar Tyagi
उपहार
विजय कुमार अग्रवाल
तुझसे बिछड़ने के बाद
Kaur Surinder
करवा चौथ
VINOD KUMAR CHAUHAN
जो हर पल याद आएगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
- में अनाथ हु -
bharat gehlot
बचपन
मनोज कर्ण
Break-up
Aashutosh Rajpoot
बुढापा
सूर्यकांत द्विवेदी
Loading...