Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बेटियाँ——–“सुन रहे हो बाबा”

एक बेटी की बात अपने पिता से—-

सुन रहे हो बाबा !

जगाये थे जब मैंने
दबे अहसास
लिख डाले थे, अधरों पर
रुके अल्फाज़,
तुमने आँखें तरेर
मचाया था कोहराम
और डायरी जला
लगाया था विराम,
बारहवीं उत्तीर्ण होते ही
बजा दी थी शहनाई
पंख दिए थे काट
मुरझाई थी तरुणाई।

सुन रहे हो बाबा !!

कितना था समझाया
न सुनी माँ की तुमने
घुटे अरमानों तले
ली थी विदाई हमने,
ससुराल पहुँच बंध गयी
गृहस्थी के बोझ तले
मसल गयी कली
पुरुषत्व के वजूद तले,
बन चार बच्चों की माँ
रम गयी दरख़्तों में,
भावों को था बहा दिया
अल्फ़ाज़ों को अश्क़ों में।

सुन रहे हो बाबा !!!

पचास बसंत आज पार किये
पर तुमको भूल न पाई मैं
कविता रचने का अहसास
शायद तुम्हीं से पाई मैं,
तुम्हारे रौद्र रूप को याद कर
लिख डालीं दो चार किताब
दिया जो तुमने दर्द मुझे
वो निकल पड़े बन अल्फाज़,
ढूँढ रही अपने अंदर
बचपन की वो जली डायरी
क्या दे सकोगे मुझको तुम
खोई हुई पहली शायरी !
खोई हुई पहली शायरी !!
खोई हुई पहली शायरी !!!

नीरजा मेहता

2 Likes · 1 Comment · 211 Views
You may also like:
💐सुरक्षा चक्र💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जो बीत गई।
Taj Mohammad
$ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
मौत।
Taj Mohammad
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
अश्रुपात्र... A glass of tears भाग - 4
Dr. Meenakshi Sharma
غزل
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
कुंडलियां छंद (7)आया मौसम
Pakhi Jain
इंसा का रोना भी जरूरी होता है।
Taj Mohammad
उसे कभी न ……
Rekha Drolia
चश्मे-तर जिन्दगी
Dr. Sunita Singh
"साहिल"
Dr. Alpa H. Amin
✍️प्रेम खेळ नाही बाहुल्यांचा✍️
"अशांत" शेखर
तुम्हारे हाथों में।
Taj Mohammad
पहचान
Anamika Singh
✍️व्हाट्सअप यूनिवर्सिटी✍️
"अशांत" शेखर
" फ़ोटो "
Dr Meenu Poonia
जोशवान मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
उसकी दाढ़ी का राज
gurudeenverma198
" सामोद वीर हनुमान जी "
Dr Meenu Poonia
योगा
Utsav Kumar Aarya
फरिश्ता से
Dr.sima
*स्मृति डॉ. उर्मिलेश*
Ravi Prakash
नई जिंदगानी
AMRESH KUMAR VERMA
गणतंत्र दिवस
Aditya Prakash
पिता
KAMAL THAKUR
छोटा-सा परिवार
श्री रमण
अहसान मानता हूं।
Taj Mohammad
बदल जायेगा
शेख़ जाफ़र खान
मेरे दिल के करीब,आओगे कब तुम ?
Ram Krishan Rastogi
Loading...