Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Oct 2022 · 1 min read

नया दौर है सँभल

वक़्त के साथ तू बदल प्यारे
ये नया दौर है सँभल प्यारे

झूमता है ख़ुशी में पगले क्यों
शान्त ज़्यादा न तू मचल प्यारे

पाल मत आस्तीन में इसको
साँप के फन को तू कुचल प्यारे

***

5 Likes · 5 Comments · 168 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
खुद को खोने लगा जब कोई मुझ सा होने लगा।
खुद को खोने लगा जब कोई मुझ सा होने लगा।
शिव प्रताप लोधी
हम साथ साथ चलेंगे
हम साथ साथ चलेंगे
Kavita Chouhan
नफरतों से अब रिफाक़त पे असर पड़ता है। दिल में शक हो तो मुहब्बत पे असर पड़ता है। ❤️ खुशू खुज़ू से अमल कोई भी करो साहिब। नेकियों से तो इ़बादत पे असर पड़ता है।
नफरतों से अब रिफाक़त पे असर पड़ता है। दिल में शक हो तो मुहब्बत पे असर पड़ता है। ❤️ खुशू खुज़ू से अमल कोई भी करो साहिब। नेकियों से तो इ़बादत पे असर पड़ता है।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
रक्षा है उस मूल्य की,
रक्षा है उस मूल्य की,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जीवन के पल दो चार
जीवन के पल दो चार
Bodhisatva kastooriya
आंख खोलो और देख लो
आंख खोलो और देख लो
Shekhar Chandra Mitra
कुछ बीते हुए पल -बीते हुए लोग जब कुछ बीती बातें
कुछ बीते हुए पल -बीते हुए लोग जब कुछ बीती बातें
Atul "Krishn"
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
23/75.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/75.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ब्रांड. . . .
ब्रांड. . . .
sushil sarna
रूपमाला
रूपमाला
डॉ.सीमा अग्रवाल
मेरी ख़्वाहिशों में बहुत दम है
मेरी ख़्वाहिशों में बहुत दम है
Mamta Singh Devaa
चंचल मन
चंचल मन
Dinesh Kumar Gangwar
सर्दी
सर्दी
Dhriti Mishra
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
उल्लास
उल्लास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
" रिन्द (शराबी) "
Dr. Kishan tandon kranti
Khahisho ke samandar me , gote lagati meri hasti.
Khahisho ke samandar me , gote lagati meri hasti.
Sakshi Tripathi
“जहां गलती ना हो, वहाँ झुको मत
“जहां गलती ना हो, वहाँ झुको मत
शेखर सिंह
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
Naushaba Suriya
#करना है, मतदान हमको#
#करना है, मतदान हमको#
Dushyant Kumar
दिल धड़क उठा
दिल धड़क उठा
Surinder blackpen
#मेरे_दोहे
#मेरे_दोहे
*Author प्रणय प्रभात*
*अजीब आदमी*
*अजीब आदमी*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हार भी स्वीकार हो
हार भी स्वीकार हो
Dr fauzia Naseem shad
बहुत ख्वाहिश थी ख्वाहिशों को पूरा करने की
बहुत ख्वाहिश थी ख्वाहिशों को पूरा करने की
VINOD CHAUHAN
ସେହି ଫୁଲ ଠାରୁ ଅଧିକ
ସେହି ଫୁଲ ଠାରୁ ଅଧିକ
Otteri Selvakumar
नाथ शरण तुम राखिए,तुम ही प्राण आधार
नाथ शरण तुम राखिए,तुम ही प्राण आधार
कृष्णकांत गुर्जर
आधा किस्सा आधा फसाना रह गया
आधा किस्सा आधा फसाना रह गया
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Moral of all story.
Moral of all story.
Sampada
Loading...