Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 May 2023 · 1 min read

देव विनायक वंदना

जय जय जय जय देव विनायक विघ्न विनासक मंगलदायक!!

जय जय जय जय देव विनायक विघ्न विनासक मंगलदायक!!

दुख हरता भय भव भंजक सकल कामना शुभ आनंद प्रदायक जै जै जै गणपती गण नायक !!
जय जय जय जय देव विनायक विघ्न विनासक मंगलदायक!!
माथे सिन्दूर मुसक सवारी मोदक का भोग रिद्धि सिद्धि हैं प्यारी जय जय जय देव गज़ानन!!
जय जय जय जय देव विनायक विघ्न विनासक मंगलदायक!!
महादेव गौरी सूत नंदन भक्त वत्सल लम्बोदर भक्त पुकारे दौड़ै आते करूणा, छमा, प्रेम के सागर जय जय जय जय देव विनायक विघ्न विनासक मंगलदायक!!
जय जय जय जय देव विनायक विघ्न विनासक मंगलदायक!!

Language: Hindi
119 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
View all
You may also like:
मेरे अंदर भी इक अमृता है
मेरे अंदर भी इक अमृता है
Shweta Soni
चंद एहसासात
चंद एहसासात
Shyam Sundar Subramanian
Dear  Black cat 🐱
Dear Black cat 🐱
Otteri Selvakumar
वो कहते हैं की आंसुओ को बहाया ना करो
वो कहते हैं की आंसुओ को बहाया ना करो
The_dk_poetry
***वारिस हुई***
***वारिस हुई***
Dinesh Kumar Gangwar
अगर प्रफुल्ल पटेल
अगर प्रफुल्ल पटेल
*Author प्रणय प्रभात*
प्रकृति भी तो शांत मुस्कुराती रहती है
प्रकृति भी तो शांत मुस्कुराती रहती है
ruby kumari
करवा चौथ@)
करवा चौथ@)
Vindhya Prakash Mishra
एक दूसरे से बतियाएं
एक दूसरे से बतियाएं
surenderpal vaidya
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
दोहे-*
दोहे-*
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*सब जग में सिरमौर हमारा, तीर्थ अयोध्या धाम (गीत)*
*सब जग में सिरमौर हमारा, तीर्थ अयोध्या धाम (गीत)*
Ravi Prakash
नैनों के अभिसार ने,
नैनों के अभिसार ने,
sushil sarna
" माँ का आँचल "
DESH RAJ
"भीमसार"
Dushyant Kumar
और प्रतीक्षा सही न जाये
और प्रतीक्षा सही न जाये
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
💐 Prodigy Love-19💐
💐 Prodigy Love-19💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मोहतरमा कुबूल है..... कुबूल है /लवकुश यादव
मोहतरमा कुबूल है..... कुबूल है /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
धैर्य के साथ अगर मन में संतोष का भाव हो तो भीड़ में भी आपके
धैर्य के साथ अगर मन में संतोष का भाव हो तो भीड़ में भी आपके
Paras Nath Jha
चप्पलें
चप्पलें
Kanchan Khanna
Muhabhat guljar h,
Muhabhat guljar h,
Sakshi Tripathi
किसी भी काम में आपको मुश्किल तब लगती है जब आप किसी समस्या का
किसी भी काम में आपको मुश्किल तब लगती है जब आप किसी समस्या का
Rj Anand Prajapati
"कवि"
Dr. Kishan tandon kranti
चेहरा देख के नहीं स्वभाव देख कर हमसफर बनाना चाहिए क्योंकि चे
चेहरा देख के नहीं स्वभाव देख कर हमसफर बनाना चाहिए क्योंकि चे
Ranjeet kumar patre
"अतितॄष्णा न कर्तव्या तॄष्णां नैव परित्यजेत्।
Mukul Koushik
ज़िन्दगी तुमको ढूंढ ही लेगी
ज़िन्दगी तुमको ढूंढ ही लेगी
Dr fauzia Naseem shad
इंसान क्यों ऐसे इतना जहरीला हो गया है
इंसान क्यों ऐसे इतना जहरीला हो गया है
gurudeenverma198
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
दिल हमारा तुम्हारा धड़कने लगा।
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
सामाजिक कविता: बर्फ पिघलती है तो पिघल जाने दो,
सामाजिक कविता: बर्फ पिघलती है तो पिघल जाने दो,
Rajesh Kumar Arjun
Loading...