Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Mar 2024 · 1 min read

“तलाश”

“तलाश”
चौराहे पर खड़ी
जिन्दगी
तलाशती है
कोई ऐसा संकेत
जिस पर लिखा हो-
सुकून जीरो मील,
रुको दोस्त
यही है साहिल ।

2 Likes · 2 Comments · 80 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
"नदी की सिसकियाँ"
Dr. Kishan tandon kranti
राणा सा इस देश में, हुआ न कोई वीर
राणा सा इस देश में, हुआ न कोई वीर
Dr Archana Gupta
कचनार kachanar
कचनार kachanar
Mohan Pandey
*स्वर्गीय श्री जय किशन चौरसिया : न थके न हारे*
*स्वर्गीय श्री जय किशन चौरसिया : न थके न हारे*
Ravi Prakash
52 बुद्धों का दिल
52 बुद्धों का दिल
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
*पृथ्वी दिवस*
*पृथ्वी दिवस*
Madhu Shah
जो बीत गया उसके बारे में सोचा नहीं करते।
जो बीत गया उसके बारे में सोचा नहीं करते।
Slok maurya "umang"
@ !!
@ !! "हिम्मत की डोर" !!•••••®:
Prakhar Shukla
* कष्ट में *
* कष्ट में *
surenderpal vaidya
परम लक्ष्य
परम लक्ष्य
Dr. Upasana Pandey
बालगीत - सर्दी आई
बालगीत - सर्दी आई
Kanchan Khanna
घोसी                      क्या कह  रहा है
घोसी क्या कह रहा है
Rajan Singh
फ़र्क
फ़र्क
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ईश्वर
ईश्वर
Neeraj Agarwal
वेला
वेला
Sangeeta Beniwal
कहने को सभी कहते_
कहने को सभी कहते_
Rajesh vyas
Upon the Himalayan peaks
Upon the Himalayan peaks
Monika Arora
बुरा नहीं देखेंगे
बुरा नहीं देखेंगे
Sonam Puneet Dubey
कौन कहता है छोटी चीजों का महत्व नहीं होता है।
कौन कहता है छोटी चीजों का महत्व नहीं होता है।
Yogendra Chaturwedi
मां
मां
Sûrëkhâ
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
बिहार के मूर्द्धन्य द्विज लेखकों के विभाजित साहित्य सरोकार
बिहार के मूर्द्धन्य द्विज लेखकों के विभाजित साहित्य सरोकार
Dr MusafiR BaithA
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
मौका जिस को भी मिले वही दिखाए रंग ।
मौका जिस को भी मिले वही दिखाए रंग ।
Mahendra Narayan
दीवार का साया
दीवार का साया
Dr. Rajeev Jain
कितना और सहे नारी ?
कितना और सहे नारी ?
Mukta Rashmi
........,,?
........,,?
शेखर सिंह
■ जय नागलोक
■ जय नागलोक
*प्रणय प्रभात*
राम-राज्य
राम-राज्य
Bodhisatva kastooriya
पंचतत्व
पंचतत्व
लक्ष्मी सिंह
Loading...