Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2016 · 1 min read

गज़ल (बहुत मुश्किल )

गज़ल (बहुत मुश्किल )

अँधेरे में रहा करता है साया साथ अपने पर
बिना जोखिम उजाले में है रह पाना बहुत मुश्किल

ख्वाबों और यादों की गली में उम्र गुजारी है
समय के साथ दुनिया में है रह पाना बहुत मुश्किल

कहने को तो कह लेते है अपनी बात सबसे हम
जुबां से दिल की बातों को है कह पाना बहुत मुश्किल

ज़माने से मिली ठोकर तो अपना हौसला बढता
अपनों से मिली ठोकर तो सह पाना बहुत मुश्किल

कुछ पाने की तमन्ना में हम खो देते बहुत कुछ है
क्या खोया और क्या पाया कह पाना बहुत मुश्किल

गज़ल (बहुत मुश्किल )

मदन मोहन सक्सेना

186 Views
You may also like:
त्याग
Saraswati Bajpai
"विश्व हिन्दी दिवस 10 जनवरी 2023"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
जब हम छोटे से बच्चे थे।
लक्ष्मी सिंह
श्रावण सोमवार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*गणेश-स्तुति (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
एक प्यार ऐसा भी /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
शौक मर गए सब !
ओनिका सेतिया 'अनु '
रविवार को छुट्टी भाई (समय सारिणी)
Jatashankar Prajapati
ओ जानें ज़ाना !
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
उड़ता लेवे तीर
Sadanand Kumar
दर्द तक़सीम कर नहीं सकते
Dr fauzia Naseem shad
आ जाओ न प्रिय प्रवास तुम
Shiva Awasthi
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
मेरी बेटी
Anamika Singh
💐💐उनसे अलग कोई मर्ज़ी नहीं है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Writing Challenge- सम्मान (Respect)
Sahityapedia
सच की क़ीमत
Shekhar Chandra Mitra
■ मंगल कामनाएं
*Author प्रणय प्रभात*
মিথিলা অক্ষর
DrLakshman Jha Parimal
जिन्दगी।
Taj Mohammad
✍️सूफ़ियाना जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
कहानी
Pakhi Jain
भक्ता (#लोकमैथिली_हाइकु)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
किसी को क्या खबर है
shabina. Naaz
तब मैं कविता लिखता हूँ
Satish Srijan
इसीलिए मेरे दुश्मन बहुत है
gurudeenverma198
बहुत हैं फायदे तुमको बतायेंगे मुहब्बत से।
सत्य कुमार प्रेमी
I am a book
Buddha Prakash
सावन की शुचि तरुणाई का,सुंदर दृश्य दिखा है।
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
अमावस के जैसा अंधेरा है इस दिल में,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
Loading...