Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 May 2024 · 1 min read

कविता

अनचाहा कुछ घटता है
मन खुद ही कलम पकड़ता है
संवेदना के स्पंदन से
फूट फूट कर रिसता है
कुछ कही अनकही बातों से
जब भीतर दर्द उपजता है
हृदय ग्लेशियर से पीड़ा
जब पिघल-पिघल कर बहती है
उस शब्द– सुधा के बहाने से
सिंचित होते हैं भाव कई
फिर जो गीत जन्मता है
वह कविता ही कहलाता है।

Language: Hindi
57 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
" मिलकर एक बनें "
Pushpraj Anant
फूल और कांटे
फूल और कांटे
अखिलेश 'अखिल'
वक़्त वो सबसे ही जुदा होगा
वक़्त वो सबसे ही जुदा होगा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
■ क़तआ (मुक्तक)
■ क़तआ (मुक्तक)
*प्रणय प्रभात*
शून्य ....
शून्य ....
sushil sarna
"गौरतलब"
Dr. Kishan tandon kranti
बिन परखे जो बेटे को हीरा कह देती है
बिन परखे जो बेटे को हीरा कह देती है
Shweta Soni
कभी मायूस मत होना दोस्तों,
कभी मायूस मत होना दोस्तों,
Ranjeet kumar patre
*रिश्ते*
*रिश्ते*
Dushyant Kumar
दोस्त
दोस्त
Pratibha Pandey
ज़िंदगी पर तो
ज़िंदगी पर तो
Dr fauzia Naseem shad
सैनिक की कविता
सैनिक की कविता
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
मदर्स डे
मदर्स डे
Satish Srijan
🪸 *मजलूम* 🪸
🪸 *मजलूम* 🪸
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
कैसा कोलाहल यह जारी है....?
कैसा कोलाहल यह जारी है....?
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
2616.पूर्णिका
2616.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
फर्ज मां -बाप के याद रखना सदा।
फर्ज मां -बाप के याद रखना सदा।
Namita Gupta
आज का दौर
आज का दौर
Shyam Sundar Subramanian
*आम (बाल कविता)*
*आम (बाल कविता)*
Ravi Prakash
कलम लिख दे।
कलम लिख दे।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बिल्ले राम
बिल्ले राम
Kanchan Khanna
मुसलसल ईमान रख
मुसलसल ईमान रख
Bodhisatva kastooriya
नारी पुरुष
नारी पुरुष
Neeraj Agarwal
6-जो सच का पैरोकार नहीं
6-जो सच का पैरोकार नहीं
Ajay Kumar Vimal
Never forget
Never forget
Dhriti Mishra
अभिनेता बनना है
अभिनेता बनना है
Jitendra kumar
अधर्म का उत्पात
अधर्म का उत्पात
Dr. Harvinder Singh Bakshi
महज़ एक गुफ़्तगू से.,
महज़ एक गुफ़्तगू से.,
Shubham Pandey (S P)
सच्ची लगन
सच्ची लगन
Krishna Manshi
नहीं जाती तेरी याद
नहीं जाती तेरी याद
gurudeenverma198
Loading...