Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

कविता – जलायें दिये पर रहे ध्यान इतना

जलायें दिये पर रहे ध्यान इतना ,
हरकोई मिट्टी वाले दीपक जलाये ।
भगाये अंधेरा सम्पूर्ण धरा का ,
मगर दिलों में अंधेरा रहने न पाये ।। जलायें……
खरीदें न सामन एक भी विदेशी ,
समृद्ध करें देश खरीदकर स्वदेशी ।
जिससे मने गरीब की भी दिवाली ,
देश का धन न लेजा पाये परदेशी ।
देश का धन देश के काम आये ।। जलायें ……..
चलायें पटाखे बड़े ध्यान से हम ,
मनायें दिवाली स्वाभिमान से हम ।
मिठाई खील खिलौने सब खूब खायें ,
माँ लक्ष्मी जी को पूजें सम्मान से हम ।
करें कुछ ऐसा खुशियाँ हर कोई मनाये ।। जलायें……….. *दीपावली की सभी को अग्रिम बधाईयाँ *
निवेदक :- डाँ तेज स्वरूप भारद्वाज

1 Comment · 197 Views
You may also like:
मेरे पिता है प्यारे पिता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
पिता बना हूं।
Taj Mohammad
खेसारी लाल बानी
Ranjeet Kumar
✍️हम सब है भाई भाई✍️
"अशांत" शेखर
पढ़ाई - लिखाई
AMRESH KUMAR VERMA
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
हर गम को ही सह लूंगा।
Taj Mohammad
पिता का दर्द
Anamika Singh
नेकी कर इंटरनेट पर डाल
हरीश सुवासिया
# बोरे बासी दिवस /मजदूर दिवस....
Chinta netam " मन "
धारण कर सत् कोयल के गुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
हवा के झोंको में जुल्फें बिखर जाती हैं
VINOD KUMAR CHAUHAN
तूँ ही गजल तूँ ही नज़्म तूँ ही तराना है...
VINOD KUMAR CHAUHAN
बुंदेली दोहा- गुदना
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
विद्या पर दोहे
Dr. Sunita Singh
बिछड़न [भाग ३]
Anamika Singh
बिखरना
Vikas Sharma'Shivaaya'
गीत... कौन है जो
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
जिंदगी में जो उजाले दे सितारा न दिखा।
सत्य कुमार प्रेमी
तेरी हर बात सनद है, हद है
Anis Shah
नेताओं के घर भी बुलडोजर चल जाए
Dr. Kishan Karigar
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
🍀🌸🍀🌸आराधों नित सांय प्रात, मेरे सुतदेवकी🍀🌸🍀🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मन को मत हारने दो
जगदीश लववंशी
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
You Have Denied Visiting Me In The Dreams
Manisha Manjari
लत...
Sapna K S
चंद सांसे अभी बाकी है
Arjun Chauhan
मायका
Anamika Singh
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
Loading...