Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Apr 2024 · 1 min read

एक बेजुबान की डायरी

कहने वाले कहते हैं कि खामोशी अच्छी होती है। कई रिश्तों की आबरू ढँक लेती है, लेकिन यह कदापि ठीक नहीं। एक बेजुबान लड़की की डायरी में लिखा था :

परियों की दुनिया को सच समझने वाली और गुड्डे-गुड़ियों के ब्याह से खुश होने वाली 6 साल की बच्ची से घर के नौकर ने रैप किया, 9 बरस की उम्र में मौसी के 18 वर्षीय बेटे ने, 14 बरस की उम्र में दोस्ती का नाटक करके पड़ोसी लड़के ने और 17 बरस की उम्र में चाचा के यहाँ मेहमानी जाने पर चचेरे भाई ने रैप किया। रोने और गिड़गिड़ाने पर माँ और रिश्तेदार महिलाओं ने कहा- “चुप रहो, इससे बहुत बदनामी होगी।”

मुझे इस डायरी को पढ़कर समझ न आया कि कौन सा उपयुक्त शब्द है, इस जख्म के मरहम के लिए। फिर भारी मन से डायरी बन्द कर दी मैंने।

… मगर एक बात है, आज दौर बदल गया है। सोशल मीडिया के कारण लोग मुखर होकर अपनी बात रखने लगे हैं। माता-पिता और अभिभावकों में जागरूकता आई है। बेहतर है कि वे अपनी बच्ची की आवाजें ना छीने। कुछ खोखले रिश्तों को बचाने के लिए लड़कियों को गूंगी कदापि न बनाएँ।

मेरी प्रकाशित कृति : ‘ककहरा’ (दलहा, भाग-5) से,,,।

डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति
साहित्य वाचस्पति
भारत भूषण सम्मान प्राप्त
हरफनमौला साहित्य लेखक।

Language: Hindi
2 Likes · 1 Comment · 58 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
Jese Doosro ko khushi dene se khushiya milti hai
Jese Doosro ko khushi dene se khushiya milti hai
shabina. Naaz
■
■ "शिक्षा" और "दीक्षा" का अंतर भी समझ लो महाप्रभुओं!!
*Author प्रणय प्रभात*
ख्याल नहीं थे उम्दा हमारे, इसलिए हालत ऐसी हुई
ख्याल नहीं थे उम्दा हमारे, इसलिए हालत ऐसी हुई
gurudeenverma198
मुझे अच्छी नहीं लगती
मुझे अच्छी नहीं लगती
Dr fauzia Naseem shad
गर्मी ने दिल खोलकर,मचा रखा आतंक
गर्मी ने दिल खोलकर,मचा रखा आतंक
Dr Archana Gupta
गर्मी की मार
गर्मी की मार
Dr.Pratibha Prakash
नयी - नयी लत लगी है तेरी
नयी - नयी लत लगी है तेरी
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कब गुज़रा वो लड़कपन,
कब गुज़रा वो लड़कपन,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Not longing for prince who will give you taj after your death
Not longing for prince who will give you taj after your death
Ankita Patel
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
विचार और भाव-2
विचार और भाव-2
कवि रमेशराज
लिखता हम त मैथिल छी ,मैथिली हम नहि बाजि सकैत छी !बच्चा सभक स
लिखता हम त मैथिल छी ,मैथिली हम नहि बाजि सकैत छी !बच्चा सभक स
DrLakshman Jha Parimal
चिंता अस्थाई है
चिंता अस्थाई है
Sueta Dutt Chaudhary Fiji
💐प्रेम कौतुक-559💐
💐प्रेम कौतुक-559💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वंशवादी जहर फैला है हवा में
वंशवादी जहर फैला है हवा में
महेश चन्द्र त्रिपाठी
बरकत का चूल्हा
बरकत का चूल्हा
Ritu Asooja
पुराना कुछ भूलने के लिए,
पुराना कुछ भूलने के लिए,
पूर्वार्थ
*भर ले खुद में ज्योति तू ,बन जा आत्म-प्रकाश (कुंडलिया)*
*भर ले खुद में ज्योति तू ,बन जा आत्म-प्रकाश (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"दो पहलू"
Yogendra Chaturwedi
ये जो दुनियादारी समझाते फिरते हैं,
ये जो दुनियादारी समझाते फिरते हैं,
ओसमणी साहू 'ओश'
-: चंद्रयान का चंद्र मिलन :-
-: चंद्रयान का चंद्र मिलन :-
Parvat Singh Rajput
' चाह मेँ ही राह '
' चाह मेँ ही राह '
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
माशूका नहीं बना सकते, तो कम से कम कोठे पर तो मत बिठाओ
माशूका नहीं बना सकते, तो कम से कम कोठे पर तो मत बिठाओ
Anand Kumar
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मुझे लगता था
मुझे लगता था
ruby kumari
আজ চারপাশ টা কেমন নিরব হয়ে আছে
আজ চারপাশ টা কেমন নিরব হয়ে আছে
Sukoon
मेरी धुन में, तेरी याद,
मेरी धुन में, तेरी याद,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
2912.*पूर्णिका*
2912.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जब जलियांवाला काण्ड हुआ
जब जलियांवाला काण्ड हुआ
Satish Srijan
Loading...