Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Mar 2023 · 1 min read

“अतीत”

“अतीत”
अतीत के कन्धों पर बैठकर
वर्तमान है पहुँचता,
अतीत के पर्दे में ही कहीं
वर्तमान है छुपता।
मौन की चादर ओढ़कर
तलाशती जिन्दगी अतीत को,
बहाती वो गम में आँसू
कभी जीती स्वर्णिम प्रीत को।

5 Likes · 2 Comments · 192 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
मेरे जैसा
मेरे जैसा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
इतना कभी ना खींचिए कि
इतना कभी ना खींचिए कि
Paras Nath Jha
जीवन : एक अद्वितीय यात्रा
जीवन : एक अद्वितीय यात्रा
Mukta Rashmi
देखिए इतिहास की किताबो मे हमने SALT TAX के बारे मे पढ़ा है,
देखिए इतिहास की किताबो मे हमने SALT TAX के बारे मे पढ़ा है,
शेखर सिंह
हिन्दी पर विचार
हिन्दी पर विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हिंदी का सम्मान
हिंदी का सम्मान
Arti Bhadauria
असर
असर
Shyam Sundar Subramanian
■ आज की बात
■ आज की बात
*Author प्रणय प्रभात*
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
তোমার চরণে ঠাঁই দাও আমায় আলতা করে
Arghyadeep Chakraborty
एकांत बनाम एकाकीपन
एकांत बनाम एकाकीपन
Sandeep Pande
"अपने की पहचान "
Yogendra Chaturwedi
अलगाव
अलगाव
अखिलेश 'अखिल'
ए कुदरत के बंदे ,तू जितना तन को सुंदर रखे।
ए कुदरत के बंदे ,तू जितना तन को सुंदर रखे।
Shutisha Rajput
"किसान"
Slok maurya "umang"
जीवन के हर युद्ध को,
जीवन के हर युद्ध को,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Rap song (3)
Rap song (3)
Nishant prakhar
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
आँखों में अब बस तस्वीरें मुस्कुराये।
आँखों में अब बस तस्वीरें मुस्कुराये।
Manisha Manjari
3195.*पूर्णिका*
3195.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
भारत में भीख मांगते हाथों की ۔۔۔۔۔
भारत में भीख मांगते हाथों की ۔۔۔۔۔
Dr fauzia Naseem shad
संवेदना का सौंदर्य छटा 🙏
संवेदना का सौंदर्य छटा 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
अतिथि देवो न भव
अतिथि देवो न भव
Satish Srijan
घमंड
घमंड
Ranjeet kumar patre
होली (विरह)
होली (विरह)
लक्ष्मी सिंह
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
पुस्तक समीक्षा -राना लिधौरी गौरव ग्रंथ
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
चुगलखोरों और जासूसो की सभा में गूंगे बना रहना ही बुद्धिमत्ता
चुगलखोरों और जासूसो की सभा में गूंगे बना रहना ही बुद्धिमत्ता
Rj Anand Prajapati
मंजिल तक का संघर्ष
मंजिल तक का संघर्ष
Praveen Sain
सरल जीवन
सरल जीवन
Brijesh Kumar
आगे बढ़कर जीतता, धावक को दे मात (कुंडलिया)
आगे बढ़कर जीतता, धावक को दे मात (कुंडलिया)
Ravi Prakash
जब होंगे हम जुदा तो
जब होंगे हम जुदा तो
gurudeenverma198
Loading...