Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Mar 2023 · 1 min read

I hide my depression,

I hide my depression,
Suicidal thoughts
And Anxiety
Behind my fake smile..!!😖🥀

1 Like · 68 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
हर किसी के पास हो घर
हर किसी के पास हो घर
gurudeenverma198
*कागभुशुंडी जी नमन, काग-रूप विद्वान (कुछ दोहे)*
*कागभुशुंडी जी नमन, काग-रूप विद्वान (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
कोई तो हद होगी।
कोई तो हद होगी।
Taj Mohammad
जिंदगी की राह आसान नहीं थी....
जिंदगी की राह आसान नहीं थी....
Ashish shukla
कैसे आंखों का
कैसे आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
सदा बढता है,वह 'नायक', अमल बन ताज ठुकराता|
सदा बढता है,वह 'नायक', अमल बन ताज ठुकराता|
Pt. Brajesh Kumar Nayak
आंखो ने क्या नहीं देखा ...🙏
आंखो ने क्या नहीं देखा ...🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
शहीद बनकर जब वह घर लौटा
शहीद बनकर जब वह घर लौटा
Anamika Singh
ईद की दिली मुबारक बाद
ईद की दिली मुबारक बाद
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
निःशब्दता हीं, जीवन का सार होता है।
निःशब्दता हीं, जीवन का सार होता है।
Manisha Manjari
ग़ज़ल/नज़्म - उसका प्यार जब से कुछ-कुछ गहरा हुआ है
ग़ज़ल/नज़्म - उसका प्यार जब से कुछ-कुछ गहरा हुआ है
अनिल कुमार
मैं तो महज शमशान हूँ
मैं तो महज शमशान हूँ
VINOD KUMAR CHAUHAN
💐बोधाद्वैते एकता भवति प्रेमाद्वैते अभिन्नता भवति च💐
💐बोधाद्वैते एकता भवति प्रेमाद्वैते अभिन्नता भवति च💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भेड़ चाल में फंसी माँ
भेड़ चाल में फंसी माँ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
कौन जात हो भाई / BACHCHA LAL ’UNMESH’
कौन जात हो भाई / BACHCHA LAL ’UNMESH’
Dr MusafiR BaithA
फर्ज अपना-अपना
फर्ज अपना-अपना
Prabhudayal Raniwal
सागर में अनगिनत प्यार की छटाएं है
सागर में अनगिनत प्यार की छटाएं है
'अशांत' शेखर
मेरे भी थे कुछ ख्वाब
मेरे भी थे कुछ ख्वाब
Surinder blackpen
"कागज"
Dr. Kishan tandon kranti
मुझे तुम्हारी जरूरत नही...
मुझे तुम्हारी जरूरत नही...
Sapna K S
इतना ना हमे सोचिए
इतना ना हमे सोचिए
The_dk_poetry
ट्यूशन उद्योग
ट्यूशन उद्योग
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सुनो मुरलीवाले
सुनो मुरलीवाले
rkchaudhary2012
फितरत
फितरत
Akshay patel
मेरे प्यारे पहाड़ 🏔️
मेरे प्यारे पहाड़ 🏔️
Skanda Joshi
पारख पूर्ण प्रणेता
पारख पूर्ण प्रणेता
प्रेमदास वसु सुरेखा
"अगर तू अपना है तो एक एहसान कर दे
कवि दीपक बवेजा
सपनों का शहर
सपनों का शहर
Shekhar Chandra Mitra
चलो दूर चले
चलो दूर चले
Satish Srijan
Meditation
Meditation
Ravikesh Jha
Loading...