Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Jul 2022 · 1 min read

💔💔…broken

तुमने इस दिल को नहीं,
तड़पते हुए रूह को तोड़ा है!

तूने हर पल साथ निभाकर भी ,
मुझे खुद में ही अकेला छोड़ा है!

तुमने होठों को भिगोने की कीमत,
इन आंसुओं में जोड़ा है !

असल में यह पहली दफा नहीं ,
तुमने कई बार वादों से मुंह मोड़ा है

✍: palak shreya

7 Likes · 3 Comments · 355 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Quote..
Quote..
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
जब दादा जी घर आते थे
जब दादा जी घर आते थे
VINOD CHAUHAN
स्नेह की मृदु भावनाओं को जगाकर।
स्नेह की मृदु भावनाओं को जगाकर।
surenderpal vaidya
अपने कदमों को बढ़ाती हूँ तो जल जाती हूँ
अपने कदमों को बढ़ाती हूँ तो जल जाती हूँ
SHAMA PARVEEN
कुत्ते
कुत्ते
Dr MusafiR BaithA
!! उमंग !!
!! उमंग !!
Akash Yadav
इस तरफ न अभी देख मुझे
इस तरफ न अभी देख मुझे
Indu Singh
राम विवाह कि मेहंदी
राम विवाह कि मेहंदी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जवाला
जवाला
भरत कुमार सोलंकी
"ओट पर्दे की"
Ekta chitrangini
बारिश की बूंदे
बारिश की बूंदे
Praveen Sain
गुम सूम क्यूँ बैठी हैं जरा ये अधर अपने अलग कीजिए ,
गुम सूम क्यूँ बैठी हैं जरा ये अधर अपने अलग कीजिए ,
Sukoon
शायरी - गुल सा तू तेरा साथ ख़ुशबू सा - संदीप ठाकुर
शायरी - गुल सा तू तेरा साथ ख़ुशबू सा - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"बलिदानी यादें"
Dr. Kishan tandon kranti
जिस देश मे पवन देवता है
जिस देश मे पवन देवता है
शेखर सिंह
जिंदगी का सवेरा
जिंदगी का सवेरा
Dr. Man Mohan Krishna
सुना था,
सुना था,
हिमांशु Kulshrestha
आंखों में
आंखों में
Surinder blackpen
रिश्तों के मायने
रिश्तों के मायने
Rajni kapoor
■ आज का विचार...
■ आज का विचार...
*Author प्रणय प्रभात*
बेटियां
बेटियां
Nanki Patre
2405.पूर्णिका
2405.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
इस दिल में .....
इस दिल में .....
sushil sarna
आप और हम
आप और हम
Neeraj Agarwal
सम्मान
सम्मान
Paras Nath Jha
*जीवन का आधारभूत सच, जाना-पहचाना है (हिंदी गजल)*
*जीवन का आधारभूत सच, जाना-पहचाना है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
......... ढेरा.......
......... ढेरा.......
Naushaba Suriya
Loading...