Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

*ज़िन्दगानी के मुसाफिर*

खुशबू को बिखराता जा
इस जग को महकाता जा
ज़िन्दगानी के मुसाफिर
आगे कदम बढ़ाता जा
*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

1 Comment · 148 Views
You may also like:
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
बेजुबान
Dhirendra Panchal
🌺🌻🌷तुम मिलोगे मुझे यह वादा करो🌺🌻🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
यादों की भूलभुलैया में
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जीवन मे कभी हार न मानों
Anamika Singh
वो एक तुम
Saraswati Bajpai
¡*¡ हम पंछी : कोई हमें बचा लो ¡*¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
यही तो मेरा वहम है
Krishan Singh
“ पगडंडी का बालक ”
DESH RAJ
माँ — फ़ातिमा एक अनाथ बच्ची
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️✍️बूद✍️✍️
"अशांत" शेखर
"विहग"
Ajit Kumar "Karn"
दिल है कि मानता ही नहीं
gurudeenverma198
मैं हैरान हूं।
Taj Mohammad
नई तकदीर
मनोज कर्ण
माँ
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
शांत वातावरण
AMRESH KUMAR VERMA
पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है
सतीश मिश्र "अचूक"
मजदूरों का जीवन।
Anamika Singh
मजदूर बिना विकास असंभव ..( मजदूर दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
नर्सिंग दिवस विशेष
हरीश सुवासिया
पिता
Arvind trivedi
ये जज़्बात कहां से लाते हो।
Taj Mohammad
हमको आजमानें की।
Taj Mohammad
मृत्यु के बाद भी मिर्ज़ा ग़ालिब लोकप्रिय हैं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बहुत कुछ सिखा
Swami Ganganiya
परीक्षा को समझो उत्सव समान
ओनिका सेतिया 'अनु '
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद( गीत )
Ravi Prakash
रेशमी रुमाल पर विवाह गीत (सेहरा) छपा था*
Ravi Prakash
रामकथा की अविरल धारा श्री राधे श्याम द्विवेदी रामायणी जी...
Ravi Prakash
Loading...