Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Mar 2024 · 1 min read

“होली है आई रे”

बजे ढोल, बजे ताशा, होली है आई रे,
रंग बिरंगे हैं गाने, खुशियाँ मनाई रे।

रंगों का त्योहार है, हर दिल में प्यार है,
खुशियों की बौछार है, हर दिल में उमंग है।

पिचकारियों से रंग छिड़ा, धूम मचाई रे,
खुशियों की बोटलें खोले, होली है आई रे।

बचपन की यादें ताज़ा, रंगीन सपने सारे,
हर दिल में भर आई है, होली की प्यारी बातें।

खुशियों का जहां सजा, हर रंग में भरी जिंदगी है,
होली का त्योहार है, हर दिल में बसी खुशियाँ है।

रंग बिरंगे हैं गाने, धूम मचाई रे,
खुशियों की बौछार है, हर दिल में उमंग है।

34 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
** चीड़ के प्रसून **
** चीड़ के प्रसून **
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
Miracles in life are done by those who had no other
Miracles in life are done by those who had no other "options
Nupur Pathak
घणो ललचावे मन थारो,मारी तितरड़ी(हाड़ौती भाषा)/राजस्थानी)
घणो ललचावे मन थारो,मारी तितरड़ी(हाड़ौती भाषा)/राजस्थानी)
gurudeenverma198
आप जिंदगी का वो पल हो,
आप जिंदगी का वो पल हो,
Kanchan Alok Malu
जिंदगी को बड़े फक्र से जी लिया।
जिंदगी को बड़े फक्र से जी लिया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
पिता वह व्यक्ति होता है
पिता वह व्यक्ति होता है
शेखर सिंह
सच तो फूल होते हैं।
सच तो फूल होते हैं।
Neeraj Agarwal
बढ़ता उम्र घटता आयु
बढ़ता उम्र घटता आयु
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मैं उसके इंतजार में नहीं रहता हूं
मैं उसके इंतजार में नहीं रहता हूं
कवि दीपक बवेजा
शिछा-दोष
शिछा-दोष
Bodhisatva kastooriya
श्रमिक  दिवस
श्रमिक दिवस
Satish Srijan
* सड़ जी नेता हुए *
* सड़ जी नेता हुए *
Mukta Rashmi
पिछले पन्ने 9
पिछले पन्ने 9
Paras Nath Jha
#लघुकथा
#लघुकथा
*Author प्रणय प्रभात*
*श्रीराम*
*श्रीराम*
Dr. Priya Gupta
It's not always about the sweet kisses or romantic gestures.
It's not always about the sweet kisses or romantic gestures.
पूर्वार्थ
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
क्या हो, अगर कोई साथी न हो?
Vansh Agarwal
किया है तुम्हें कितना याद ?
किया है तुम्हें कितना याद ?
The_dk_poetry
* मुक्तक *
* मुक्तक *
surenderpal vaidya
ऋतु परिवर्तन
ऋतु परिवर्तन
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
''आशा' के मुक्तक
''आशा' के मुक्तक"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मैं भारत हूँ
मैं भारत हूँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*हनुमान प्रसाद पोद्दार (कुंडलिया)*
*हनुमान प्रसाद पोद्दार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
ଭୋକର ଭୂଗୋଳ
ଭୋକର ଭୂଗୋଳ
Bidyadhar Mantry
तुमने - दीपक नीलपदम्
तुमने - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
*तिरंगा मेरे  देश की है शान दोस्तों*
*तिरंगा मेरे देश की है शान दोस्तों*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
दोस्त
दोस्त
Pratibha Pandey
माचिस
माचिस
जय लगन कुमार हैप्पी
टूटा हुआ ख़्वाब हूॅ॑ मैं
टूटा हुआ ख़्वाब हूॅ॑ मैं
VINOD CHAUHAN
दिल से ….
दिल से ….
Rekha Drolia
Loading...