Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Oct 2022 · 1 min read

हे चौथ माता है विनय यही, अटल प्रेम विश्वास रहे

सदा सुखी दांपत्य रहे, जन्म जन्मांतर साथ रहे
जबतक सूरज चांद रहे, सदा पिया का साथ रहे
अटल सदा विश्वास रहे,हर पल सजना साथ रहे
जीवन के हर सुख दुख में,हर कदम हाथ में हाथ रहे
हे चौथ माता है विनय यही,अटल प्रेम का साथ रहे
सभी दंपत्तियों को करवा चौथ की हार्दिक शुभकामनाएं 🎉🙏
ज्योति सुरेश चतुर्वेदी

Language: Hindi
5 Likes · 233 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
"" *एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य* "" ( *वसुधैव कुटुंबकम्* )
सुनीलानंद महंत
देर हो जाती है अकसर
देर हो जाती है अकसर
Surinder blackpen
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ज्ञान तो बहुत लिखा है किताबों में
ज्ञान तो बहुत लिखा है किताबों में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मन बड़ा घबराता है
मन बड़ा घबराता है
Harminder Kaur
हुआ पिया का आगमन
हुआ पिया का आगमन
लक्ष्मी सिंह
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
ग्रन्थ
ग्रन्थ
Satish Srijan
मोहब्बत अनकहे शब्दों की भाषा है
मोहब्बत अनकहे शब्दों की भाषा है
Ritu Asooja
कौन्तय
कौन्तय
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
"समय का महत्व"
Yogendra Chaturwedi
चुभती है रौशनी
चुभती है रौशनी
Dr fauzia Naseem shad
शिवाजी गुरु स्वामी समर्थ रामदास – भाग-01
शिवाजी गुरु स्वामी समर्थ रामदास – भाग-01
Sadhavi Sonarkar
नींद कि नजर
नींद कि नजर
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हम कहाँ जा रहे हैं...
हम कहाँ जा रहे हैं...
Radhakishan R. Mundhra
दिल से निभाती हैं ये सारी जिम्मेदारियां
दिल से निभाती हैं ये सारी जिम्मेदारियां
Ajad Mandori
कर्म
कर्म
Dhirendra Singh
ज़माने की नजर में बहुत
ज़माने की नजर में बहुत
शिव प्रताप लोधी
कोशिश कर रहा हूँ मैं,
कोशिश कर रहा हूँ मैं,
Dr. Man Mohan Krishna
सूरज आया संदेशा लाया
सूरज आया संदेशा लाया
AMRESH KUMAR VERMA
फेसबुक की बनिया–बुद्धि / मुसाफ़िर बैठा
फेसबुक की बनिया–बुद्धि / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
मोहब्बत है अगर तुमको जिंदगी से
मोहब्बत है अगर तुमको जिंदगी से
gurudeenverma198
#तेजा_दशमी_की_बधाई
#तेजा_दशमी_की_बधाई
*Author प्रणय प्रभात*
वक्त से लड़कर अपनी तकदीर संवार रहा हूँ।
वक्त से लड़कर अपनी तकदीर संवार रहा हूँ।
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"ये कैसा जमाना"
Dr. Kishan tandon kranti
कभी लगे के काबिल हुँ मैं किसी मुकाम के लिये
कभी लगे के काबिल हुँ मैं किसी मुकाम के लिये
Sonu sugandh
लड़को की योग्यता पर सवाल क्यो
लड़को की योग्यता पर सवाल क्यो
भरत कुमार सोलंकी
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
Sakhawat Jisan
तो मेरा नाम नही//
तो मेरा नाम नही//
गुप्तरत्न
जिन्दगी के कुछ लम्हें अनमोल बन जाते हैं,
जिन्दगी के कुछ लम्हें अनमोल बन जाते हैं,
शेखर सिंह
Loading...