Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author

स्वागत गीत- खिल गए आज हम

स्वागत गीत- खिल गए आज हम
★★★★★★★★★★★★★
आप आये यहाँ खिल गए आज हम
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम

दूर तम हो गया रोशनी आ गयी
आप आये यहाँ है खुशी छा गयी
आपको देखकर हो गयी आँख नम-
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम

कैसे स्वागत करें ना समझ पाएं हम
भाग्य पर देखिये कैसे इतरायें हम
मन का पंछी उड़े और चूमे कदम-
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम

प्यार हमको मिला मान्यवर आपका
हर कली खिल गयी ये असर आपका
हम सभी के लिए आ गए हैं स्वयम-
स्वागतम स्वागतम स्वागतम स्वागतम

– आकाश महेशपुरी

3 Likes · 1740 Views
You may also like:
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एक सच्चे इंसान थे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अब कैसे कहें तुमसे कहने को हमारे हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
वेश्या का दर्द
Anamika Singh
हमारी सभ्यता
Anamika Singh
फारसी के विद्वान श्री नावेद कैसर साहब से मुलाकात
Ravi Prakash
* साम वेदना *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
#कविता//ऊँ नमः शिवाय!
आर.एस. 'प्रीतम'
बुलबुला
मनोज शर्मा
जानता है
Dr fauzia Naseem shad
'वर्षा ऋतु'
Godambari Negi
प्रेम की किताब
DESH RAJ
अपनी भाषा
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
वर्षा ऋतु में प्रेमिका की वेदना
Ram Krishan Rastogi
नामालूम था नादान को।
Taj Mohammad
महाराणा प्रताप
jaswant Lakhara
लोभ का जमाना
AMRESH KUMAR VERMA
*हास्य-रस के पर्याय हुल्लड़ मुरादाबादी के काव्य में व्यंग्यात्मक चेतना*
Ravi Prakash
रामपुर में दंत चिकित्सा की आधी सदी के पर्याय डॉ....
Ravi Prakash
दुआ
Alok Saxena
काँटों का दामन हँस के पकड़ लो
VINOD KUMAR CHAUHAN
विष्णुपद छंद और विधाएँ
Subhash Singhai
पापा आप बहुत याद आते हो।
Taj Mohammad
✍️अजनबी की तरह...!✍️
'अशांत' शेखर
पिता खुशियों का द्वार है।
Taj Mohammad
पढ़ी लिखी लड़की
Swami Ganganiya
आंखों में जब
Dr fauzia Naseem shad
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️पत्थर✍️
'अशांत' शेखर
ज़िंदगी का ये
Dr fauzia Naseem shad
जहाँ तुम रहती हो
Sidhant Sharma
Loading...