Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Mar 2024 · 1 min read

“स्मार्ट विलेज”

“स्मार्ट विलेज”
आज की जरूरत यही
गाँवों को उजड़ने से बचाएँ,
स्मार्ट सिटी की बजाय
अब स्मार्ट विलेज बनाएँ।

1 Like · 1 Comment · 52 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
केशों से मुक्ता गिरे,
केशों से मुक्ता गिरे,
sushil sarna
ख़त्म हुईं सब दावतें, मस्ती यारो संग
ख़त्म हुईं सब दावतें, मस्ती यारो संग
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हम उस पीढ़ी के लोग है
हम उस पीढ़ी के लोग है
Indu Singh
प्रथम किरण नव वर्ष की।
प्रथम किरण नव वर्ष की।
Vedha Singh
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
उड़ते हुए आँचल से दिखती हुई तेरी कमर को छुपाना चाहता हूं
Vishal babu (vishu)
छन्द- सम वर्णिक छन्द
छन्द- सम वर्णिक छन्द " कीर्ति "
rekha mohan
*चिंता और चिता*
*चिंता और चिता*
VINOD CHAUHAN
21वीं सदी और भारतीय युवा
21वीं सदी और भारतीय युवा
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
*श्रीराम और चंडी माँ की कथा*
*श्रीराम और चंडी माँ की कथा*
Kr. Praval Pratap Singh Rana
अधूरी दास्तान
अधूरी दास्तान
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
*माटी की संतान- किसान*
*माटी की संतान- किसान*
Harminder Kaur
बेअदब कलम
बेअदब कलम
AJAY PRASAD
कमीना विद्वान।
कमीना विद्वान।
Acharya Rama Nand Mandal
गैर का होकर जिया
गैर का होकर जिया
Dr. Sunita Singh
आंखों में ख़्वाब है न कोई दास्ताँ है अब
आंखों में ख़्वाब है न कोई दास्ताँ है अब
Sarfaraz Ahmed Aasee
दुश्मन को दहला न सके जो              खून   नहीं    वह   पानी
दुश्मन को दहला न सके जो खून नहीं वह पानी
Anil Mishra Prahari
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
कवि दीपक बवेजा
3047.*पूर्णिका*
3047.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"किवदन्ती"
Dr. Kishan tandon kranti
■चंदे का धंधा■
■चंदे का धंधा■
*प्रणय प्रभात*
बीरबल जैसा तेज तर्रार चालाक और समझदार लोग आज भी होंगे इस दुन
बीरबल जैसा तेज तर्रार चालाक और समझदार लोग आज भी होंगे इस दुन
Dr. Man Mohan Krishna
हमने भी ज़िंदगी को
हमने भी ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
गरीब की आरजू
गरीब की आरजू
Neeraj Agarwal
बाल कविता: चूहे की शादी
बाल कविता: चूहे की शादी
Rajesh Kumar Arjun
ईश्वर
ईश्वर
Shyam Sundar Subramanian
देने के लिए मेरे पास बहुत कुछ था ,
देने के लिए मेरे पास बहुत कुछ था ,
Rohit yadav
बता ये दर्द
बता ये दर्द
विजय कुमार नामदेव
कैसे?
कैसे?
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
!!!! सबसे न्यारा पनियारा !!!!
!!!! सबसे न्यारा पनियारा !!!!
जगदीश लववंशी
चकोर हूं मैं कभी चांद से मिला भी नहीं।
चकोर हूं मैं कभी चांद से मिला भी नहीं।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...