Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Nov 2023 · 1 min read

स्पर्श करें निजजन्म की मांटी

स्पर्श करें निजजन्म की मांटी अनुभव होगा पुरखों की त्याग तपस्या की कहानी श्रम पसीना सींची बगिया महशूस करें हृदयी धड़कन सुने इन बेजुवां रूह की वाणी ।
टी .पी . तरुण

153 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
View all
You may also like:
कैसे यकीन करेगा कोई,
कैसे यकीन करेगा कोई,
Dr. Man Mohan Krishna
⚜️गुरु और शिक्षक⚜️
⚜️गुरु और शिक्षक⚜️
SPK Sachin Lodhi
मेहनत
मेहनत
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जब भी किसी कार्य को पूर्ण समर्पण के साथ करने के बाद भी असफलत
जब भी किसी कार्य को पूर्ण समर्पण के साथ करने के बाद भी असफलत
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दादा की मूँछ
दादा की मूँछ
Dr Nisha nandini Bhartiya
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
गांव का दृश्य
गांव का दृश्य
Mukesh Kumar Sonkar
सब कुछ दुनिया का दुनिया में,     जाना सबको छोड़।
सब कुछ दुनिया का दुनिया में, जाना सबको छोड़।
डॉ.सीमा अग्रवाल
चवन्नी , अठन्नी के पीछे भागते भागते
चवन्नी , अठन्नी के पीछे भागते भागते
Manju sagar
पचीस साल पुराने स्वेटर के बारे में / MUSAFIR BAITHA
पचीस साल पुराने स्वेटर के बारे में / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
कुंडलिया
कुंडलिया
दुष्यन्त 'बाबा'
खोल नैन द्वार माँ।
खोल नैन द्वार माँ।
लक्ष्मी सिंह
भगवान परशुराम जी, हैं छठवें अवतार
भगवान परशुराम जी, हैं छठवें अवतार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दिल के रिश्ते
दिल के रिश्ते
Dr fauzia Naseem shad
रही प्रतीक्षारत यशोधरा
रही प्रतीक्षारत यशोधरा
Shweta Soni
मेला एक आस दिलों🫀का🏇👭
मेला एक आस दिलों🫀का🏇👭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
आज़ाद
आज़ाद
Satish Srijan
दुविधा
दुविधा
Shyam Sundar Subramanian
#होई_कइसे_छठि_के_बरतिया-----?? (मेलोडी)
#होई_कइसे_छठि_के_बरतिया-----?? (मेलोडी)
संजीव शुक्ल 'सचिन'
गुरु की महिमा
गुरु की महिमा
Ram Krishan Rastogi
इंसान
इंसान
Vandna thakur
होता अगर मैं एक शातिर
होता अगर मैं एक शातिर
gurudeenverma198
ऐसे दर्शन सदा मिले
ऐसे दर्शन सदा मिले
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
*जो दसवीं फेल हैं धनवान (मुक्तक)*
*जो दसवीं फेल हैं धनवान (मुक्तक)*
Ravi Prakash
प्रथम अभिव्यक्ति
प्रथम अभिव्यक्ति
मनोज कर्ण
भरोसा टूटने की कोई आवाज नहीं होती मगर
भरोसा टूटने की कोई आवाज नहीं होती मगर
Radhakishan R. Mundhra
जब पीड़ा से मन फटता है
जब पीड़ा से मन फटता है
पूर्वार्थ
बिना काविश तो कोई भी खुशी आने से रही। ख्वाहिश ए नफ़्स कभी आगे बढ़ाने से रही। ❤️ ख्वाहिशें लज्ज़त ए दीदार जवां है अब तक। उस से मिलने की तमन्ना तो ज़माने से रही। ❤️
बिना काविश तो कोई भी खुशी आने से रही। ख्वाहिश ए नफ़्स कभी आगे बढ़ाने से रही। ❤️ ख्वाहिशें लज्ज़त ए दीदार जवां है अब तक। उस से मिलने की तमन्ना तो ज़माने से रही। ❤️
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
■ व्यंग्य / एक न्यूज़ : जो उड़ा दी फ्यूज..
■ व्यंग्य / एक न्यूज़ : जो उड़ा दी फ्यूज..
*Author प्रणय प्रभात*
कुंडलिया छंद
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
Loading...