Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Mar 2024 · 1 min read

“सपनों में”

“सपनों में”
सपनों में पंख है
और पंखों में उड़ान,
हौसलों की जद में
है सारा आसमान।

1 Like · 1 Comment · 44 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
हर खुशी
हर खुशी
Dr fauzia Naseem shad
मैं अपने सारे फ्रेंड्स सर्कल से कहना चाहूँगी...,
मैं अपने सारे फ्रेंड्स सर्कल से कहना चाहूँगी...,
Priya princess panwar
फ़ितरतन
फ़ितरतन
Monika Verma
हम जियें  या मरें  तुम्हें क्या फर्क है
हम जियें या मरें तुम्हें क्या फर्क है
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*जग से जाने वालों का धन, धरा यहीं रह जाता है (हिंदी गजल)*
*जग से जाने वालों का धन, धरा यहीं रह जाता है (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
मेरे पूर्ण मे आधा व आधे मे पुर्ण अहसास हो
मेरे पूर्ण मे आधा व आधे मे पुर्ण अहसास हो
Anil chobisa
परिवर्तन विकास बेशुमार
परिवर्तन विकास बेशुमार
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जय श्री राम
जय श्री राम
Er.Navaneet R Shandily
"लोकतंत्र में"
Dr. Kishan tandon kranti
When I was a child.........
When I was a child.........
Natasha Stephen
15)”शिक्षक”
15)”शिक्षक”
Sapna Arora
वोट का सौदा
वोट का सौदा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2850.*पूर्णिका*
2850.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
संभव कब है देखना ,
संभव कब है देखना ,
sushil sarna
शमा से...!!!
शमा से...!!!
Kanchan Khanna
बातें
बातें
Sanjay ' शून्य'
जागृति और संकल्प , जीवन के रूपांतरण का आधार
जागृति और संकल्प , जीवन के रूपांतरण का आधार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जिंदगी तूने  ख्वाब दिखाकर
जिंदगी तूने ख्वाब दिखाकर
goutam shaw
!! मुरली की चाह‌ !!
!! मुरली की चाह‌ !!
Chunnu Lal Gupta
रमेशराज की विरोधरस की मुक्तछंद कविताएँ—2.
रमेशराज की विरोधरस की मुक्तछंद कविताएँ—2.
कवि रमेशराज
This generation was full of gorgeous smiles and sorrowful ey
This generation was full of gorgeous smiles and sorrowful ey
पूर्वार्थ
गुम है सरकारी बजट,
गुम है सरकारी बजट,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
दोस्ती से हमसफ़र
दोस्ती से हमसफ़र
Seema gupta,Alwar
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
ना कुछ जवाब देती हो,
ना कुछ जवाब देती हो,
Dr. Man Mohan Krishna
" मेरी ओकात क्या"
भरत कुमार सोलंकी
विवेकवान मशीन
विवेकवान मशीन
Sandeep Pande
चाहो जिसे चाहो तो बेलौस होके चाहो
चाहो जिसे चाहो तो बेलौस होके चाहो
shabina. Naaz
Loading...