Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2024 · 2 min read

सत्य

सत्य

सत्य के एक छोर पर पुरुष है, तो दूसरे छोर पर स्त्री
सत्य के एक छोर पर पौरुष है, तो दूसरे छोर पर स्त्रीत्व

सत्य का एक छोर जीवन से सम्बद्ध , तो दूसरा मृत्यु से
सत्य का एक छोर बालपन की चंचलता , तो दूसरी ओर
वृद्धावस्था का बालहठ

सत्य का अपना आरम्भ, सत्य का अपना अंत
सत्य न तो कभी हारता है न जीतता

सत्य का अपना धरातल , सत्य का अपना चरम
सत्य का अपना सफ़र, सत्य की अपनी ही मंजिल

सत्य का अपना कड़वापन, सत्य की अपनी कठोरता
सत्य , सत्य से पोषित, सत्य की अपनी कटुता

सत्य, संस्कारों से पोषित, सत्य आदर्शों का पर्याय
सत्य का अपना ही राग, सत्य का अपना ही अलग संगीत

सत्य के मायने हज़ार, सत्य की मंजिल एक
सत्य की अपनी ही कांति, सत्य की अपनी ही गति

सत्य की अपनी ही सामर्थर्य, सत्य का अपना वर्चस्व
झूठ क्या डराए सत्य को, सत्य की संकल्पना अनेक

सत्य का अपना झरोखा, सत्य का अपना आशियाँ
सत्य को क्गाया डिगायेगा कोई, सत्य का अपना किनारा

सत्य का अपना ही दर्शन, सत्य की अपनी ही माया
सत्य का अपना ही मनोविज्ञान, सत्य की अपनी ही दिशा

सत्य का अपना देवालय, सत्य का अपना गुरद्वारा
सत्य का अपना अलग चर्च , सत्य का अपना मस्जिद

सत्य का अपना आवरण, सत्य प्रभावित न होता
सत्य जीवन का देव मंदिर, सत्य आत्मा को पुष्पित करता

सत्य की अपनी ही नाव, सत्य का अपना ही नाविक
सत्य का अपना ही परिणाम, सत्य की अपनी ही सजीवता

सत्य की स्वयं की अदालत, सत्य स्वयं का न्यायाधीश
सत्य की स्वयं की परिधि, सत्य की स्वयं की पावनता

सत्य कभी पराजित नहीं होता, सत्य स्वयं से पुरस्कृत
सत्य की स्वयं की पाठशाला, सत्य के स्वयं के शिक्षक

सत्य का अपना ही गुलशन, सत्य का अपना ही उपवन
सत्य की अपनी ही प्यास, सत्य का अपना ही जलपात्र

सत्य की महिमा को जानो, सत्य के अम्बर को पहचानो
सत्य बसता मेरे हृदय मैं, सबके हृदय में
सत्य की कोमल मुस्कान, कोमल हृदय को पहचानों

सत्य के एक छोर पर पुरुष है, तो दूसरे छोर पर स्त्री
सत्य के एक छोर पर पौरुष है, तो दूसरे छोर पर स्त्रीत्व

सत्य का एक छोर जीवन से सम्बद्ध , तो दूसरा मृत्यु से
सत्य का एक छोर बालपन की चंचलता , तो दूसरी ओर वृद्धावस्था का बालहठ

सत्य के एक छोर पर पुरुष है, तो दूसरे छोर पर स्त्री
सत्य के एक छोर पर पौरुष है, तो दूसरे छोर पर स्त्रीत्व

2 Likes · 51 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
View all
You may also like:
क्यों नहीं देती हो तुम, साफ जवाब मुझको
क्यों नहीं देती हो तुम, साफ जवाब मुझको
gurudeenverma198
किसी भी सफल और असफल व्यक्ति में मुख्य अन्तर ज्ञान और ताकत का
किसी भी सफल और असफल व्यक्ति में मुख्य अन्तर ज्ञान और ताकत का
Paras Nath Jha
17रिश्तें
17रिश्तें
Dr .Shweta sood 'Madhu'
तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिल
तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिल
Rashmi Ranjan
हिकारत जिल्लत
हिकारत जिल्लत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बगावत की बात
बगावत की बात
AJAY PRASAD
है नसीब अपना अपना-अपना
है नसीब अपना अपना-अपना
VINOD CHAUHAN
!! कोई आप सा !!
!! कोई आप सा !!
Chunnu Lal Gupta
गणेश जी का हैप्पी बर्थ डे
गणेश जी का हैप्पी बर्थ डे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
🙅आश्वासन🙅
🙅आश्वासन🙅
*प्रणय प्रभात*
मधुमास में बृंदावन
मधुमास में बृंदावन
Anamika Tiwari 'annpurna '
जिस देश में लोग संत बनकर बलात्कार कर सकते है
जिस देश में लोग संत बनकर बलात्कार कर सकते है
शेखर सिंह
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
*तिक तिक तिक तिक घोड़ा आया (बाल कविता)*
*तिक तिक तिक तिक घोड़ा आया (बाल कविता)*
Ravi Prakash
शब्द अनमोल मोती
शब्द अनमोल मोती
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
तुम ही रहते सदा ख्यालों में
तुम ही रहते सदा ख्यालों में
Dr Archana Gupta
"ध्यान रखें"
Dr. Kishan tandon kranti
★HAPPY FATHER'S DAY ★
★HAPPY FATHER'S DAY ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
हे राम तुम्हारे आने से बन रही अयोध्या राजधानी।
हे राम तुम्हारे आने से बन रही अयोध्या राजधानी।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
गम खास होते हैं
गम खास होते हैं
ruby kumari
Friendship Day
Friendship Day
Tushar Jagawat
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
हर वक़्त तुम्हारी कमी सताती है
हर वक़्त तुम्हारी कमी सताती है
shabina. Naaz
3379⚘ *पूर्णिका* ⚘
3379⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
आपका आकाश ही आपका हौसला है
आपका आकाश ही आपका हौसला है
Neeraj Agarwal
एक तरफ़ा मोहब्बत
एक तरफ़ा मोहब्बत
Madhuyanka Raj
मुझे आज तक ये समझ में न आया
मुझे आज तक ये समझ में न आया
Shweta Soni
प्रेम ...
प्रेम ...
sushil sarna
वक्त तुम्हारी चाहत में यूं थम सा गया है,
वक्त तुम्हारी चाहत में यूं थम सा गया है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
शिव हैं शोभायमान
शिव हैं शोभायमान
surenderpal vaidya
Loading...