Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Apr 2024 · 1 min read

सत्य की खोज

सत्य की खोज के तरीके अनेक
आईए जाने उनमें से कोई एक
ईश्वर है इस बात को कसौटी में कसें
जब हम कभी किसी संकट में फंसें
हमने उससे उबरने ईश्वर को पुकारा
लगा उसने हमें उस संकट से उबारा
इसे कहा जा सकता है संयोग
जब हमें हर बार कोई संकट से उबारे
यह नहीं हो सकता संयोग
हमें ईश्वर को मानना होगा
ओम कहता यही है सत्य की खोज

मौलिक और स्वरचित

ओमप्रकाश भारती ओम्
बालाघाट, मध्यप्रदेश

2 Likes · 80 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from ओमप्रकाश भारती *ओम्*
View all
You may also like:
నేటి ప్రపంచం
నేటి ప్రపంచం
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
#मुक्तक
#मुक्तक
*प्रणय प्रभात*
शरद पूर्णिमा का चांद
शरद पूर्णिमा का चांद
Mukesh Kumar Sonkar
विष बो रहे समाज में सरेआम
विष बो रहे समाज में सरेआम
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कविता माँ काली का गद्यानुवाद
कविता माँ काली का गद्यानुवाद
गुमनाम 'बाबा'
🌲दिखाता हूँ मैं🌲
🌲दिखाता हूँ मैं🌲
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
2320.पूर्णिका
2320.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
नशीली आंखें
नशीली आंखें
Shekhar Chandra Mitra
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
दीप जलते रहें - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मीठी वाणी
मीठी वाणी
Dr Parveen Thakur
भीतर से तो रोज़ मर ही रहे हैं
भीतर से तो रोज़ मर ही रहे हैं
Sonam Puneet Dubey
कोई शुहरत का मेरी है, कोई धन का वारिस
कोई शुहरत का मेरी है, कोई धन का वारिस
Sarfaraz Ahmed Aasee
भेज भी दो
भेज भी दो
हिमांशु Kulshrestha
SAARC Summit to be held in Nepal on 05 May, dignitaries to be honoured
SAARC Summit to be held in Nepal on 05 May, dignitaries to be honoured
World News
जीवन अप्रत्याशित
जीवन अप्रत्याशित
पूर्वार्थ
" ये धरती है अपनी...
VEDANTA PATEL
राम सीता लक्ष्मण का सपना
राम सीता लक्ष्मण का सपना
Shashi Mahajan
वाह क्या खूब है मौहब्बत में अदाकारी तेरी।
वाह क्या खूब है मौहब्बत में अदाकारी तेरी।
Phool gufran
करनी होगी जंग
करनी होगी जंग
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हो गरीबी
हो गरीबी
Dr fauzia Naseem shad
!! पुलिस अर्थात रक्षक !!
!! पुलिस अर्थात रक्षक !!
Akash Yadav
*संस्कारों की दात्री*
*संस्कारों की दात्री*
Poonam Matia
'क्या कहता है दिल'
'क्या कहता है दिल'
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
सबला
सबला
Rajesh
हिंदी साहित्य में लुप्त होती जनचेतना
हिंदी साहित्य में लुप्त होती जनचेतना
Dr.Archannaa Mishraa
गृहस्थ संत श्री राम निवास अग्रवाल( आढ़ती )
गृहस्थ संत श्री राम निवास अग्रवाल( आढ़ती )
Ravi Prakash
सब्र रखो सच्च है क्या तुम जान जाओगे
सब्र रखो सच्च है क्या तुम जान जाओगे
VINOD CHAUHAN
विज्ञापन
विज्ञापन
Dr. Kishan tandon kranti
यह हिन्दुस्तान हमारा है
यह हिन्दुस्तान हमारा है
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
गुस्सा
गुस्सा
Sûrëkhâ
Loading...