Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 May 2023 · 1 min read

“सच्चाई”

“सच्चाई”
कभी ये मत सोचना
कि नहीं चलेगा काम
तुम्हारे बिना
ये दुनिया है भाई
ताश का पत्ता
गुम हो जाने पर
जोकर को भी लोग
बादशाह बना लेते हैं।

15 Likes · 9 Comments · 519 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
व्यक्तित्व की दुर्बलता
व्यक्तित्व की दुर्बलता
Dr fauzia Naseem shad
अ'ज़ीम शायर उबैदुल्ला अलीम
अ'ज़ीम शायर उबैदुल्ला अलीम
Shyam Sundar Subramanian
पहला अहसास
पहला अहसास
Falendra Sahu
बड़े मिनरल वाटर पी निहाल : उमेश शुक्ल के हाइकु
बड़े मिनरल वाटर पी निहाल : उमेश शुक्ल के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
#अपील-
#अपील-
*Author प्रणय प्रभात*
*** मुंह लटकाए क्यों खड़ा है ***
*** मुंह लटकाए क्यों खड़ा है ***
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
-- ग़दर 2 --
-- ग़दर 2 --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
मैं फूलों पे लिखती हूँ,तारों पे लिखती हूँ
मैं फूलों पे लिखती हूँ,तारों पे लिखती हूँ
Shweta Soni
श्रृष्टि का आधार!
श्रृष्टि का आधार!
कविता झा ‘गीत’
तेरा मेरा साथ
तेरा मेरा साथ
Kanchan verma
विरहणी के मुख से कुछ मुक्तक
विरहणी के मुख से कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
देश भक्ति
देश भक्ति
Sidhartha Mishra
3196.*पूर्णिका*
3196.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मंज़िल मिली उसी को इसी इक लगन के साथ
मंज़िल मिली उसी को इसी इक लगन के साथ
अंसार एटवी
न काज़ल की थी.......
न काज़ल की थी.......
Keshav kishor Kumar
हमारी सोच
हमारी सोच
Neeraj Agarwal
"किस बात का गुमान"
Ekta chitrangini
अधूरी रह जाती दस्तान ए इश्क मेरी
अधूरी रह जाती दस्तान ए इश्क मेरी
इंजी. संजय श्रीवास्तव
"गॉंव का समाजशास्त्र"
Dr. Kishan tandon kranti
कुछ अपनी कुछ उनकी बातें।
कुछ अपनी कुछ उनकी बातें।
सत्य कुमार प्रेमी
"मुशाफिर हूं "
Pushpraj Anant
भारत ने रचा इतिहास।
भारत ने रचा इतिहास।
Anil Mishra Prahari
अपना पराया
अपना पराया
Dr. Pradeep Kumar Sharma
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
कुत्ते का श्राद्ध
कुत्ते का श्राद्ध
Satish Srijan
*चाँद कुछ कहना है आज * ( 17 of 25 )
*चाँद कुछ कहना है आज * ( 17 of 25 )
Kshma Urmila
मक्खनबाजी में सदा , रहो बंधु निष्णात (कुंडलिया)
मक्खनबाजी में सदा , रहो बंधु निष्णात (कुंडलिया)
Ravi Prakash
दिनकर/सूर्य
दिनकर/सूर्य
Vedha Singh
संस्कृत के आँचल की बेटी
संस्कृत के आँचल की बेटी
Er.Navaneet R Shandily
Loading...