Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-471💐

ये ग़मों के दौर नहीं,ये उनकी ख़ुशी के आँसू,
ये मेरे दिल के रहनुमा बनते हैं, उनके आँसू,
इक ठहराव है ये ज़िंदगी का सुन लीजिएगा,
जिस कैफ़ियत के हैं,फ़िर न निकलेंगें ऐसे आँसू।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
Tag: Hindi Quotes, Quote Writer
11 Views
You may also like:
✍️एक ख़्वाब आँखों से गिरा...
✍️एक ख़्वाब आँखों से गिरा...
'अशांत' शेखर
हे माँ जानकी !
हे माँ जानकी !
Saraswati Bajpai
लांघो रे मन….
लांघो रे मन….
Rekha Drolia
नव्य उत्कर्ष
नव्य उत्कर्ष
Dr. Sunita Singh
गीत
गीत
Shiva Awasthi
इस सलीके से तू ज़ुल्फ़ें सवारें मेरी,
इस सलीके से तू ज़ुल्फ़ें सवारें मेरी,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
लाचार बचपन
लाचार बचपन
Shyam kumar kolare
देखिए भी किस कदर हालात मेरे शहर में।
देखिए भी किस कदर हालात मेरे शहर में।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
अच्छे किरदार की
अच्छे किरदार की
Dr fauzia Naseem shad
सच्चाई के रास्ते को अपनाओ,
सच्चाई के रास्ते को अपनाओ,
Buddha Prakash
करवा चौथ
करवा चौथ
VINOD KUMAR CHAUHAN
युग बीते और आज भी ,
युग बीते और आज भी ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
मैं जीवन दायनी मां गंगा हूं।
मैं जीवन दायनी मां गंगा हूं।
Taj Mohammad
प्यार है तो सब है
प्यार है तो सब है
Shekhar Chandra Mitra
आवो हम इस दीपावली पर
आवो हम इस दीपावली पर
gurudeenverma198
"परिवार क्या है"
Dr. Kishan tandon kranti
चौपाई - धुँआ धुँआ बादल बादल l
चौपाई - धुँआ धुँआ बादल बादल l
अरविन्द व्यास
आत्म संयम दृढ़ रखों, बीजक क्रीड़ा आधार में।
आत्म संयम दृढ़ रखों, बीजक क्रीड़ा आधार में।
Er.Navaneet R Shandily
⚘️महाशिवरात्रि मेरे लेख🌿
⚘️महाशिवरात्रि मेरे लेख🌿
Ankit Halke jha
मैं भौंर की हूं लालिमा।
मैं भौंर की हूं लालिमा।
Surinder blackpen
मैं भटकता ही रहा दश्त-ए-शनासाई में
मैं भटकता ही रहा दश्त-ए-शनासाई में
Anis Shah
■ संस्मरण / वो अनूठे नौ दिवस.....
■ संस्मरण / वो अनूठे नौ दिवस.....
*Author प्रणय प्रभात*
माघी दोहे ....
माघी दोहे ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
भक्त गोरा कुम्हार
भक्त गोरा कुम्हार
Pravesh Shinde
*एक दिवस सब्जी मंडी में (बाल कविता)*
*एक दिवस सब्जी मंडी में (बाल कविता)*
Ravi Prakash
बुद्धिमत्ता
बुद्धिमत्ता
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Happy Holi
Happy Holi
अनिल अहिरवार"अबीर"
“STAY WITHIN THE SCOPE OF FRIENDSHIP, DO NOT ENCROACH”
“STAY WITHIN THE SCOPE OF FRIENDSHIP, DO NOT ENCROACH”
DrLakshman Jha Parimal
"गर्वित नारी"
Dr Meenu Poonia
🍀🌺मैंने हर जगह ज़िक्र किया है तुम्हारा🌺🍀
🍀🌺मैंने हर जगह ज़िक्र किया है तुम्हारा🌺🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...