Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2023 · 1 min read

मैं तुम्हारे ख्वाबों खयालों में, मद मस्त शाम ओ सहर में हूॅं।

गज़ल

11212/11212/11212/11212
मैं तुम्हारे ख्वाबों खयालों में, मद मस्त शाम ओ सहर में हूॅं।
मुझे क्या पता तुम हो कहां, पर मैं तुम्हारी नज़र में हूॅं।

मैं धरा भी हूं, मैं गगन भी हूं, मैं हवा भी हूं, तुझे क्या पता।
मैं जमीं के कण कण में बसा, मैं ही फूल फल व शज़र में हूॅं।

मैं ही काफिया हूॅं, रदीफ हूॅं, मुझे मतला मक्ता समझ लें तू,
मैं ग़ज़ल का इल्मे अरूज हूॅं, मैं ही रुक्न में हूॅं, बहर में हूॅं।

मैं हूॅं जीत के हर रूप में, मैं ही हार के हर दर्द में,
मैं खुशी का नगमा निगार हूॅं, मैं दुखों से बरपे कहर में हूॅं।

मैं ही इश्क़ का इक नूर हूॅं, मैं ही हुस्न का भी गुरूर हूॅं,
मैं ही शम्मा हूॅं इक प्यार की, जले प्रेमियों के जिगर में हूॅं।

………✍️ सत्य कुमार प्रेमी

338 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*दो तरह के कुत्ते (हास्य-व्यंग्य)*
*दो तरह के कुत्ते (हास्य-व्यंग्य)*
Ravi Prakash
बे-असर
बे-असर
Sameer Kaul Sagar
मैं जीना सकूंगा कभी उनके बिन
मैं जीना सकूंगा कभी उनके बिन
कृष्णकांत गुर्जर
24/252. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/252. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
World Earth Day
World Earth Day
Tushar Jagawat
Aaj samna khud se kuch yun hua aankho m aanshu thy aaina ru-
Aaj samna khud se kuch yun hua aankho m aanshu thy aaina ru-
Sangeeta Sangeeta
आवाजें
आवाजें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मुस्किले, तकलीफे, परेशानियां कुछ और थी
मुस्किले, तकलीफे, परेशानियां कुछ और थी
Kumar lalit
सीख
सीख
Ashwani Kumar Jaiswal
जिसको भी चाहा तुमने साथी बनाना
जिसको भी चाहा तुमने साथी बनाना
gurudeenverma198
🇭🇺 श्रीयुत अटल बिहारी जी
🇭🇺 श्रीयुत अटल बिहारी जी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कितना प्यार करता हू
कितना प्यार करता हू
Basant Bhagawan Roy
स्वभाव
स्वभाव
अखिलेश 'अखिल'
नरक और स्वर्ग
नरक और स्वर्ग
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वो जहां
वो जहां
हिमांशु Kulshrestha
🙅आम सूचना🙅
🙅आम सूचना🙅
*Author प्रणय प्रभात*
राम का राज्याभिषेक
राम का राज्याभिषेक
Paras Nath Jha
दो पल देख लूं जी भर
दो पल देख लूं जी भर
आर एस आघात
किया आप Tea लवर हो?
किया आप Tea लवर हो?
Urmil Suman(श्री)
मनमर्जी की जिंदगी,
मनमर्जी की जिंदगी,
sushil sarna
मौहब्बत जो चुपके से दिलों पर राज़ करती है ।
मौहब्बत जो चुपके से दिलों पर राज़ करती है ।
Phool gufran
आगाज़
आगाज़
Vivek saswat Shukla
रज़ा से उसकी अगर
रज़ा से उसकी अगर
Dr fauzia Naseem shad
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
फूल अब खिलते नहीं , खुशबू का हमको पता नहीं
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मैं स्त्री हूं भारत की।
मैं स्त्री हूं भारत की।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
"What comes easy won't last,
पूर्वार्थ
* विजयदशमी *
* विजयदशमी *
surenderpal vaidya
संकल्प
संकल्प
Shyam Sundar Subramanian
पहाड़ों की हंसी ठिठोली
पहाड़ों की हंसी ठिठोली
Shankar N aanjna
"क्या बताऊँ दोस्त"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...