Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jan 2023 · 1 min read

मेरे मौलिक विचार

मेरे मौलिक विचार
***************
“भावनाओं के अधीन होकर जो व्यक्ति दुसरो की भावनाओं को आघात पंहुचाता है वह आत्मघाती और असमाजिक तत्व है
व्यक्ति को भावनाओं के अधीन न हो कर भावनाओं को अधीन करना चाहिए”

शायर:-“जैदि”
डॉ.एल.सी.जैदिया “जैदि”

Language: Hindi
1 Like · 77 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रकृति का विनाश
प्रकृति का विनाश
Sushil chauhan
मै भटकता ही रहा दश्त ए शनासाई में
मै भटकता ही रहा दश्त ए शनासाई में
Anis Shah
*ढूंढ लूँगा सखी*
*ढूंढ लूँगा सखी*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अपने सुख के लिए, दूसरों को कष्ट देना,सही मनुष्य पर दोषारोपण
अपने सुख के लिए, दूसरों को कष्ट देना,सही मनुष्य पर दोषारोपण
विमला महरिया मौज
दर्द
दर्द
Dr. Seema Varma
भूखे पेट न सोए कोई ।
भूखे पेट न सोए कोई ।
Buddha Prakash
विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 2023
विश्व पर्यावरण दिवस 5 जून 2023
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अलविदा ज़िंदगी से
अलविदा ज़िंदगी से
Dr fauzia Naseem shad
"छ.ग. पर्यटन महिमा"
Dr. Kishan tandon kranti
मकर संक्रांति
मकर संक्रांति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मारुति
मारुति
Kavita Chouhan
काले काले बादल आयें
काले काले बादल आयें
Chunnu Lal Gupta
😊 #सुर्ख़ियों में आने का ज़ोरदार #तरीक़ा :--
😊 #सुर्ख़ियों में आने का ज़ोरदार #तरीक़ा :--
*Author प्रणय प्रभात*
ज़माने में बहुत लोगों से बहुत नुकसान हुआ
ज़माने में बहुत लोगों से बहुत नुकसान हुआ
शिव प्रताप लोधी
गरिमामय प्रतिफल
गरिमामय प्रतिफल
Shyam Sundar Subramanian
Ahsas tujhe bhi hai
Ahsas tujhe bhi hai
Sakshi Tripathi
#जवाब जिंदगी का#
#जवाब जिंदगी का#
Ram Babu Mandal
कैसे भूल सकता हूँ मैं वह
कैसे भूल सकता हूँ मैं वह
gurudeenverma198
*सफल कौवा 【बाल कविता】*
*सफल कौवा 【बाल कविता】*
Ravi Prakash
उफ़,
उफ़,
Vishal babu (vishu)
फुटपाथ
फुटपाथ
Prakash Chandra
💐प्रेम कौतुक-240💐
💐प्रेम कौतुक-240💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀
🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀🌿🍀
subhash Rahat Barelvi
कुर्सीनामा
कुर्सीनामा
Shekhar Chandra Mitra
मैं उसका ही आईना था जहाँ मोहब्बत वो मेरी थी,तो अंदाजा उसे कह
मैं उसका ही आईना था जहाँ मोहब्बत वो मेरी थी,तो अंदाजा उसे कह
AmanTv Editor In Chief
कभी हुनर नहीं खिलता
कभी हुनर नहीं खिलता
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ड्रीम-टीम व जुआ-सटा
ड्रीम-टीम व जुआ-सटा
Anil chobisa
LIFE has many different chapters. One bad chapter does not m
LIFE has many different chapters. One bad chapter does not m
आकांक्षा राय
प्रेम समर्पण की अनुपम पराकाष्ठा है।
प्रेम समर्पण की अनुपम पराकाष्ठा है।
सुनील कुमार
अन्त हुआ आतंक का,
अन्त हुआ आतंक का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...