Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jun 2023 · 1 min read

मेरे कान्हा

चलो घनश्याम की नगरी वहीं होगा सबेरा अब।
है ढलती सांझ की बेला वहीं होगा बसेरा अब।।

यहां दुनियां की महफिल में रहे हरदम अकेले ही।
बहुत तन्हा है दिल मेरा मिलेगा साथ तेरा अब।।

अरे नटखट सुनो अरजी तुम्हारे हम दीवाने है।
हमारा कुछ ना दुनियां में तुम्हारा ही सहारा अब।।

तुम्हे दिल तोड़ देने की बुरी आदत पुरानी है।
मेरा क्या छीन लोगे तुम ये दिल है तुम्हारा अब।।

मेरे जीवन की उलझन अब हवाले है तेरे कान्हा।
तुम्ही रहबर हमारे हो तू ही आशिक हमारा अब।।

उमेश मेहरा
गाडरवारा ( एम पी)

Language: Hindi
1 Like · 728 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मजा आता है पीने में
मजा आता है पीने में
Basant Bhagawan Roy
किताबे पढ़िए!!
किताबे पढ़िए!!
पूर्वार्थ
सभी मित्रों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं।
सभी मित्रों को दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं।
surenderpal vaidya
*अग्रसेन को नमन (घनाक्षरी)*
*अग्रसेन को नमन (घनाक्षरी)*
Ravi Prakash
नवगीत
नवगीत
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
Shyam Sundar Subramanian
School ke bacho ko dusre shehar Matt bhejo
School ke bacho ko dusre shehar Matt bhejo
Tushar Jagawat
"पड़ाव"
Dr. Kishan tandon kranti
हाल-ए-दिल जब छुपा कर रखा, जाने कैसे तब खामोशी भी ये सुन जाती है, और दर्द लिए कराहे तो, चीखों को अनसुना कर मुँह फेर जाती है।
हाल-ए-दिल जब छुपा कर रखा, जाने कैसे तब खामोशी भी ये सुन जाती है, और दर्द लिए कराहे तो, चीखों को अनसुना कर मुँह फेर जाती है।
Manisha Manjari
💐अज्ञात के प्रति-143💐
💐अज्ञात के प्रति-143💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आंख में बेबस आंसू
आंख में बेबस आंसू
Dr. Rajeev Jain
■ चातुर्मास
■ चातुर्मास
*Author प्रणय प्रभात*
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
क़ीमती लिबास(Dress) पहन कर शख़्सियत(Personality) अच्छी बनाने स
Trishika S Dhara
*ये बिल्कुल मेरी मां जैसी है*
*ये बिल्कुल मेरी मां जैसी है*
Shashi kala vyas
बाल कविता: चूहा
बाल कविता: चूहा
Rajesh Kumar Arjun
सुविचार..
सुविचार..
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
यह हिन्दुस्तान हमारा है
यह हिन्दुस्तान हमारा है
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
एक दिन की बात बड़ी
एक दिन की बात बड़ी
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
उस
उस"कृष्ण" को आवाज देने की ईक्षा होती है
Atul "Krishn"
सबनम की तरहा दिल पे तेरे छा ही जाऊंगा
सबनम की तरहा दिल पे तेरे छा ही जाऊंगा
Anand Sharma
हर कदम प्यासा रहा...,
हर कदम प्यासा रहा...,
Priya princess panwar
ग़ज़ल _रखोगे कब तलक जिंदा....
ग़ज़ल _रखोगे कब तलक जिंदा....
शायर देव मेहरानियां
11, मेरा वजूद
11, मेरा वजूद
Dr Shweta sood
समय
समय
Paras Nath Jha
योग
योग
लक्ष्मी सिंह
गांधीजी का भारत
गांधीजी का भारत
विजय कुमार अग्रवाल
मेरे फितरत में ही नहीं है
मेरे फितरत में ही नहीं है
नेताम आर सी
बीज
बीज
Dr.Priya Soni Khare
मैं सत्य सनातन का साक्षी
मैं सत्य सनातन का साक्षी
Mohan Pandey
एक अबोध बालक
एक अबोध बालक
Shubham Pandey (S P)
Loading...