Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 May 2024 · 1 min read

मेरा दिल

मेरा दिल, जिगर, मन हैं तू ,
कहाँ हैं बता नज़र आ तू ।

बहुत सताती हैं याद तेरी ,
तू ही बता कहाँ हैं तू ।

थक गई हूँ तुझे ढूँढते- ढूँढते ,
मत छुप सामने आ तू ।

नाराजगी जता डांट मुझे ,
इस कद्र ना हमें रूला तू ।

एक झलक दिखा मुझे तू अपनी सूरत ,
बेइन्तहा फिर आज मुझे हँसा तू ।

मौत की वबा है फ़ैली जमाने में ,
मर जाएंगे बिना मिलें क्या बता तू ।

पत्थर हैं तू और तेरे जज्बात भी ,
मौम बनके कैसे मिला था समझा तू।

जन्म- जन्म का साथ ना सही,
एक पल में आ कर ठहर जा तू।

शमा परवीन बहराइच उत्तर प्रदेश

Language: Hindi
3 Likes · 1 Comment · 31 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
क्यों अब हम नए बन जाए?
क्यों अब हम नए बन जाए?
डॉ० रोहित कौशिक
दादी माँ - कहानी
दादी माँ - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
धार तुम देते रहो
धार तुम देते रहो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
"महंगाई"
Slok maurya "umang"
"यायावरी" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
तुम्हारी है जुस्तजू
तुम्हारी है जुस्तजू
Surinder blackpen
जिसको भी चाहा तुमने साथी बनाना
जिसको भी चाहा तुमने साथी बनाना
gurudeenverma198
★भारतीय किसान★
★भारतीय किसान★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
जब सहने की लत लग जाए,
जब सहने की लत लग जाए,
शेखर सिंह
"सरकस"
Dr. Kishan tandon kranti
मैं उन लोगो में से हूँ
मैं उन लोगो में से हूँ
Dr Manju Saini
Converse with the powers
Converse with the powers
Dhriti Mishra
वीकेंड
वीकेंड
Mukesh Kumar Sonkar
बिल्ली की तो हुई सगाई
बिल्ली की तो हुई सगाई
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
*** तोड़ दिया घरोंदा तूने ,तुझे क्या मिला ***
*** तोड़ दिया घरोंदा तूने ,तुझे क्या मिला ***
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
ख़ुदा करे ये कयामत के दिन भी बड़े देर से गुजारे जाएं,
ख़ुदा करे ये कयामत के दिन भी बड़े देर से गुजारे जाएं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
खुद के वजूद की
खुद के वजूद की
Dr fauzia Naseem shad
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
Lokesh Sharma
टूटे बहुत है हम
टूटे बहुत है हम
The_dk_poetry
कहीं ना कहीं कुछ टूटा है
कहीं ना कहीं कुछ टूटा है
goutam shaw
कैसी यह मुहब्बत है
कैसी यह मुहब्बत है
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
पिता एक सूरज
पिता एक सूरज
डॉ. शिव लहरी
मूर्ख व्यक्ति से ज्यादा, ज्ञानी धूर्त घातक होते हैं।
मूर्ख व्यक्ति से ज्यादा, ज्ञानी धूर्त घातक होते हैं।
पूर्वार्थ
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
Seema gupta,Alwar
** राह में **
** राह में **
surenderpal vaidya
सुना है सपनों की हाट लगी है , चलो कोई उम्मीद खरीदें,
सुना है सपनों की हाट लगी है , चलो कोई उम्मीद खरीदें,
Manju sagar
3396⚘ *पूर्णिका* ⚘
3396⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
!! एक चिरईया‌ !!
!! एक चिरईया‌ !!
Chunnu Lal Gupta
एक रूपक ज़िन्दगी का,
एक रूपक ज़िन्दगी का,
Radha shukla
Loading...