Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Mar 2022 · 1 min read

मुहब्बत और जीवन

इसमें तुम कुछ भी शक नहीं रखना
तुम मुहब्बत हो तुम ही जीवन हो।

©अनन्या राय पराशर

Language: Hindi
Tag: शेर
1 Like · 220 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
यह कौन सा विधान हैं?
यह कौन सा विधान हैं?
Vishnu Prasad 'panchotiya'
महायज्ञ।
महायज्ञ।
Acharya Rama Nand Mandal
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"पवित्रता"
Dr. Kishan tandon kranti
कितना रोका था ख़ुद को
कितना रोका था ख़ुद को
हिमांशु Kulshrestha
एक नासूर हो ही रहा दूसरा ज़ख्म फिर खा लिया।
एक नासूर हो ही रहा दूसरा ज़ख्म फिर खा लिया।
ओसमणी साहू 'ओश'
3226.*पूर्णिका*
3226.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
तू जो कहती प्यार से मैं खुशी खुशी कर जाता
तू जो कहती प्यार से मैं खुशी खुशी कर जाता
Kumar lalit
सुनो बुद्ध की देशना, गुनो कथ्य का सार।
सुनो बुद्ध की देशना, गुनो कथ्य का सार।
डॉ.सीमा अग्रवाल
जिंदगी
जिंदगी
Neeraj Agarwal
जल
जल
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
मंजिल
मंजिल
Swami Ganganiya
ग्रीष्म ऋतु --
ग्रीष्म ऋतु --
Seema Garg
किसी का खौफ नहीं, मन में..
किसी का खौफ नहीं, मन में..
अरशद रसूल बदायूंनी
भारत के राम
भारत के राम
करन ''केसरा''
Remeber if someone truly value you  they will always carve o
Remeber if someone truly value you they will always carve o
पूर्वार्थ
हे बुद्ध
हे बुद्ध
Dr.Pratibha Prakash
तंग जिंदगी
तंग जिंदगी
लक्ष्मी सिंह
सिर घमंडी का नीचे झुका रह गया।
सिर घमंडी का नीचे झुका रह गया।
सत्य कुमार प्रेमी
🙅एक शोध🙅
🙅एक शोध🙅
*प्रणय प्रभात*
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
Dr MusafiR BaithA
🙏 *गुरु चरणों की धूल* 🙏
🙏 *गुरु चरणों की धूल* 🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
जब साथ तुम्हारे रहता हूँ
जब साथ तुम्हारे रहता हूँ
Ashok deep
तेरे प्यार के राहों के पथ में
तेरे प्यार के राहों के पथ में
singh kunwar sarvendra vikram
दुनियाँ की भीड़ में।
दुनियाँ की भीड़ में।
Taj Mohammad
अंधेरे के आने का खौफ,
अंधेरे के आने का खौफ,
Buddha Prakash
दिल से हमको
दिल से हमको
Dr fauzia Naseem shad
ज़िंदगानी
ज़िंदगानी
Shyam Sundar Subramanian
*धन्य-धन्य वे लोग हृदय में, जिनके सेवा-भाव है (गीत)*
*धन्य-धन्य वे लोग हृदय में, जिनके सेवा-भाव है (गीत)*
Ravi Prakash
सागर ने भी नदी को बुलाया
सागर ने भी नदी को बुलाया
Anil Mishra Prahari
Loading...