Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2023 · 1 min read

मिष्ठी का प्यारा आम

✍️ मिष्ठी का प्यारा आम__
दशहरी,लंगड़ा,हाफुस,चौसा स्वाद बहुत ही भाता।
नहीं कोई रानी,फिर भी फलों का राजा कहाता।।
पहले पानी में डाल दो, गर्मी इसकी निकल जाए।
टोकरी हो पूरी खत्म, लेकिन मन नहीं भर पाए।।
है चाहत स्वास्थ्य की अगर, कर लेना एक काम।
पीछे पीना दूध, पहले खाना एक दो पके आम।।
नहीं खाना हो आम, तो तुम बनाओ मैंगो शेक।
थोड़े डालो मेवा,आइसक्रीम संग स्वाद लगे नेक।।
स्वाद,पौष्टिकता पूर्ण, कई विटामिन्स की खान है।
बच्चों की हड्डी करे मजबूत,मम्मी की भी जान है।।
है बहुत ही खास, फिर भी सीधा सादा #आम है।
लगती प्रदर्शनी,विदेशों तक चर्चा,कमाया नाम है।।
पाचनशक्ति अच्छी करे, फायबर अति सुखदाई।।
विटामिन ए,बीटा कैरोटीन से नेत्रज्योति बढ़ जाई।
चटनी,अचार, मुरब्बा, खाओ कई रूप में आम।
फल ये बड़ा रसीला,मिलते गुठलियों के भी दाम।।
__ मनु वाशिष्ठ

3 Likes · 275 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Manu Vashistha
View all
You may also like:
Bikhari yado ke panno ki
Bikhari yado ke panno ki
Sakshi Tripathi
‌‌भक्ति में शक्ति
‌‌भक्ति में शक्ति
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
प्यार का यह सिलसिला चलता रहे।
प्यार का यह सिलसिला चलता रहे।
surenderpal vaidya
" बिछड़े हुए प्यार की कहानी"
Pushpraj Anant
तन्हाई
तन्हाई
नवीन जोशी 'नवल'
" तिलिस्मी जादूगर "
Dr Meenu Poonia
दबी जुबान में क्यों बोलते हो?
दबी जुबान में क्यों बोलते हो?
Manoj Mahato
महापुरुषों की मूर्तियां बनाना व पुजना उतना जरुरी नहीं है,
महापुरुषों की मूर्तियां बनाना व पुजना उतना जरुरी नहीं है,
शेखर सिंह
*अम्मा*
*अम्मा*
Ashokatv
अपने अपने युद्ध।
अपने अपने युद्ध।
Lokesh Singh
आंखों में भरी यादें है
आंखों में भरी यादें है
Rekha khichi
आँखे नम हो जाती माँ,
आँखे नम हो जाती माँ,
Sushil Pandey
’शे’र’ : ब्रह्मणवाद पर / मुसाफ़िर बैठा
’शे’र’ : ब्रह्मणवाद पर / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
जीवन गति
जीवन गति
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
मेरे दिल ने देखो ये क्या कमाल कर दिया
मेरे दिल ने देखो ये क्या कमाल कर दिया
shabina. Naaz
मैं चोरी नहीं करता किसी की,
मैं चोरी नहीं करता किसी की,
Dr. Man Mohan Krishna
Dr. Arun Kumar shastri
Dr. Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
■ शेर
■ शेर
*Author प्रणय प्रभात*
భారత దేశ వీరుల్లారా
భారత దేశ వీరుల్లారా
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
2742. *पूर्णिका*
2742. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मसरुफियत में आती है बे-हद याद तुम्हारी
मसरुफियत में आती है बे-हद याद तुम्हारी
Vishal babu (vishu)
🌺हे परम पिता हे परमेश्वर 🙏🏻
🌺हे परम पिता हे परमेश्वर 🙏🏻
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
उत्तर
उत्तर
Dr.Priya Soni Khare
"लोभ"
Dr. Kishan tandon kranti
करते बर्बादी दिखे , भोजन की हर रोज (कुंडलिया)
करते बर्बादी दिखे , भोजन की हर रोज (कुंडलिया)
Ravi Prakash
सागर तो बस प्यास में, पी गया सब तूफान।
सागर तो बस प्यास में, पी गया सब तूफान।
Suryakant Dwivedi
विधाता छंद (28 मात्रा ) मापनी युक्त मात्रिक
विधाता छंद (28 मात्रा ) मापनी युक्त मात्रिक
Subhash Singhai
तुमको खोकर
तुमको खोकर
Dr fauzia Naseem shad
!! सोपान !!
!! सोपान !!
Chunnu Lal Gupta
दीवाली शुभकामनाएं
दीवाली शुभकामनाएं
kumar Deepak "Mani"
Loading...