Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-87💐

बहुत गुमराह हूँ या बिल्कुल भी नहीं,
उनका पता भी है, पता भी नहीं।।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
338 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
नवरात्रि - गीत
नवरात्रि - गीत
Neeraj Agarwal
3429⚘ *पूर्णिका* ⚘
3429⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
"इंसान की जमीर"
Dr. Kishan tandon kranti
हम गैरो से एकतरफा रिश्ता निभाते रहे #गजल
हम गैरो से एकतरफा रिश्ता निभाते रहे #गजल
Ravi singh bharati
कुछ तो गम-ए-हिज्र था,कुछ तेरी बेवफाई भी।
कुछ तो गम-ए-हिज्र था,कुछ तेरी बेवफाई भी।
पूर्वार्थ
सैनिक की कविता
सैनिक की कविता
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
पथ प्रदर्शक पिता
पथ प्रदर्शक पिता
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
जन जन फिर से तैयार खड़ा कर रहा राम की पहुनाई।
जन जन फिर से तैयार खड़ा कर रहा राम की पहुनाई।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
जमाना इस कदर खफा  है हमसे,
जमाना इस कदर खफा है हमसे,
Yogendra Chaturwedi
🙏😊🙏
🙏😊🙏
Neelam Sharma
कविता के प्रेरणादायक शब्द ही सन्देश हैं।
कविता के प्रेरणादायक शब्द ही सन्देश हैं।
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
क्रिकेट
क्रिकेट
World Cup-2023 Top story (विश्वकप-2023, भारत)
तथाकथित धार्मिक बोलबाला झूठ पर आधारित है
तथाकथित धार्मिक बोलबाला झूठ पर आधारित है
Mahender Singh
जो लोग धन को ही जीवन का उद्देश्य समझ बैठे है उनके जीवन का भो
जो लोग धन को ही जीवन का उद्देश्य समझ बैठे है उनके जीवन का भो
Rj Anand Prajapati
Gazal
Gazal
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
अजीब सी बेताबी है
अजीब सी बेताबी है
शेखर सिंह
आबूधाबी में हिंदू मंदिर
आबूधाबी में हिंदू मंदिर
Ghanshyam Poddar
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
दवा और दुआ में इतना फर्क है कि-
संतोष बरमैया जय
" दूरियां"
Pushpraj Anant
जुनून
जुनून
नवीन जोशी 'नवल'
बिन बोले ही हो गई, मन  से  मन  की  बात ।
बिन बोले ही हो गई, मन से मन की बात ।
sushil sarna
पंछी और पेड़
पंछी और पेड़
नन्दलाल सुथार "राही"
*तू ही  पूजा  तू ही खुदा*
*तू ही पूजा तू ही खुदा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
■ बस एक ही सवाल...
■ बस एक ही सवाल...
*प्रणय प्रभात*
प्रेम के रंग कमाल
प्रेम के रंग कमाल
Mamta Singh Devaa
फितरत
फितरत
Dr fauzia Naseem shad
ज्ञानमय
ज्ञानमय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
जब तुमने वक्त चाहा हम गवाते चले गये
जब तुमने वक्त चाहा हम गवाते चले गये
Rituraj shivem verma
ये राम कृष्ण की जमीं, ये बुद्ध का मेरा वतन।
ये राम कृष्ण की जमीं, ये बुद्ध का मेरा वतन।
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...