Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 May 2024 · 1 min read

“बलिदानी यादें”

“बलिदानी यादें”
देश भक्तों की बलिदानी यादें
हर दिल में करती राज,
संघर्ष के लिए जज्बा जगाते
जन-गण-मन में आज।

2 Likes · 2 Comments · 36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
#देसी_ग़ज़ल
#देसी_ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
#DrArunKumarshastri
#DrArunKumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Rashmi Sanjay
जबकि ख़ाली हाथ जाना है सभी को एक दिन,
जबकि ख़ाली हाथ जाना है सभी को एक दिन,
Shyam Vashishtha 'शाहिद'
मानव और मशीनें
मानव और मशीनें
Mukesh Kumar Sonkar
आप आज शासक हैं
आप आज शासक हैं
DrLakshman Jha Parimal
खुशकिस्मत है कि तू उस परमात्मा की कृति है
खुशकिस्मत है कि तू उस परमात्मा की कृति है
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*हर किसी के हाथ में अब आंच है*
*हर किसी के हाथ में अब आंच है*
sudhir kumar
*तू ही  पूजा  तू ही खुदा*
*तू ही पूजा तू ही खुदा*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आयी प्यारी तीज है,झूलें मिलकर साथ
आयी प्यारी तीज है,झूलें मिलकर साथ
Dr Archana Gupta
*साबुन से धोकर यद्यपि तुम, मुखड़े को चमकाओगे (हिंदी गजल)*
*साबुन से धोकर यद्यपि तुम, मुखड़े को चमकाओगे (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
गुरु मेरा मान अभिमान है
गुरु मेरा मान अभिमान है
Harminder Kaur
निराकार परब्रह्म
निराकार परब्रह्म
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
घर घर रंग बरसे
घर घर रंग बरसे
Rajesh Tiwari
25. *पलभर में*
25. *पलभर में*
Dr .Shweta sood 'Madhu'
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मैं उसकी निग़हबानी का ऐसा शिकार हूँ
मैं उसकी निग़हबानी का ऐसा शिकार हूँ
Shweta Soni
"पुरानी तस्वीरें"
Lohit Tamta
"दर्द से दोस्ती"
Dr. Kishan tandon kranti
गुरु दीक्षा
गुरु दीक्षा
GOVIND UIKEY
2495.पूर्णिका
2495.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
किताब का दर्द
किताब का दर्द
Dr. Man Mohan Krishna
सफर कितना है लंबा
सफर कितना है लंबा
Atul "Krishn"
प्रदूषण
प्रदूषण
Pushpa Tiwari
we were that excited growing up. we were once excited.
we were that excited growing up. we were once excited.
पूर्वार्थ
मेरी फितरत है, तुम्हें सजाने की
मेरी फितरत है, तुम्हें सजाने की
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मैं नहीं तो कोई और सही
मैं नहीं तो कोई और सही
Shekhar Chandra Mitra
जिंदगी में हर पल खुशियों की सौगात रहे।
जिंदगी में हर पल खुशियों की सौगात रहे।
Phool gufran
शादाब रखेंगे
शादाब रखेंगे
Neelam Sharma
कविता-आ रहे प्रभु राम अयोध्या 🙏
कविता-आ रहे प्रभु राम अयोध्या 🙏
Madhuri Markandy
Loading...