Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Mar 2017 · 1 min read

~~बता यह किस ने दी ?? ~~

तुझ को रब ने आवाज सुंदर दी
उस ने तुझ को काया भी सुंदर दी
कोई कमी नहीं छोड़ी तुझ को तराशने में
फिर तेरे दिल में ये गंदी भावना किस ने दी ??

जब देखो सवार रहता है तेरा मन
घोड़े की तरह दौड़ने को तीवरता से
कुछ अच्छा कभी सोचता ही नहीं
फिर बुरा करने की नसीहत किस ने दी ??

जिस के पास शरीर में हर चीज हो
वो फिर भी न उस से संतुष्ट हो
बगलें झांकता रहता है तू इधर उधर
यह बुरी सोच जुह को बता किस ने दी ??

अपनी हर बात दबा के रखता है,
दुसरे की हर चीज पर रखता नजर है
कोई तुझ से क्या मांगने आ रहा है,
ऐसी बदनीयत होने की दुआ किस से ली ??

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

Language: Hindi
302 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
View all
You may also like:
तुमको मिले जो गम तो हमें कम नहीं मिले
तुमको मिले जो गम तो हमें कम नहीं मिले
हरवंश हृदय
आज़ाद पंछी
आज़ाद पंछी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मत फैला तू हाथ अब उसके सामने
मत फैला तू हाथ अब उसके सामने
gurudeenverma198
वोट डालने जाना
वोट डालने जाना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
लौट कर वक्त
लौट कर वक्त
Dr fauzia Naseem shad
दयालू मदन
दयालू मदन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
करनी होगी जंग
करनी होगी जंग
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*ये रिश्ते ,रिश्ते न रहे इम्तहान हो गए हैं*
*ये रिश्ते ,रिश्ते न रहे इम्तहान हो गए हैं*
Shashi kala vyas
कभी लगे के काबिल हुँ मैं किसी मुकाम के लिये
कभी लगे के काबिल हुँ मैं किसी मुकाम के लिये
Sonu sugandh
"कोहरा रूपी कठिनाई"
Yogendra Chaturwedi
■ आज की बात...
■ आज की बात...
*Author प्रणय प्रभात*
शिक्षक
शिक्षक
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
आया सावन झूम के, झूमें तरुवर - पात।
आया सावन झूम के, झूमें तरुवर - पात।
डॉ.सीमा अग्रवाल
हम दुसरों की चोरी नहीं करते,
हम दुसरों की चोरी नहीं करते,
Dr. Man Mohan Krishna
💐प्रेम कौतुक-559💐
💐प्रेम कौतुक-559💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"जीना"
Dr. Kishan tandon kranti
प्राची संग अरुणिमा का,
प्राची संग अरुणिमा का,
पंकज पाण्डेय सावर्ण्य
जल सिंधु नहीं तुम शब्द सिंधु हो।
जल सिंधु नहीं तुम शब्द सिंधु हो।
कार्तिक नितिन शर्मा
बहुत से लोग तो तस्वीरों में ही उलझ जाते हैं ,उन्हें कहाँ होश
बहुत से लोग तो तस्वीरों में ही उलझ जाते हैं ,उन्हें कहाँ होश
DrLakshman Jha Parimal
भगतसिंह का आख़िरी खत
भगतसिंह का आख़िरी खत
Shekhar Chandra Mitra
Asman se khab hmare the,
Asman se khab hmare the,
Sakshi Tripathi
20, 🌻बसन्त पंचमी🌻
20, 🌻बसन्त पंचमी🌻
Dr Shweta sood
उम्मीदों का उगता सूरज बादलों में मौन खड़ा है |
उम्मीदों का उगता सूरज बादलों में मौन खड़ा है |
कवि दीपक बवेजा
नारी
नारी
Bodhisatva kastooriya
मुस्कुराना चाहता हूं।
मुस्कुराना चाहता हूं।
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
नील गगन
नील गगन
नवीन जोशी 'नवल'
घोंसले
घोंसले
Dr P K Shukla
जहर    ना   इतना  घोलिए
जहर ना इतना घोलिए
Paras Nath Jha
हाथों ने पैरों से पूछा
हाथों ने पैरों से पूछा
Shubham Pandey (S P)
स्वप्न बेचकर  सभी का
स्वप्न बेचकर सभी का
महेश चन्द्र त्रिपाठी
Loading...