Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 May 2024 · 1 min read

प्रभु श्री राम आयेंगे

प्रभु श्रीराम आयेंगे

ओ तो सीता लेने लंका जाएंगे
अहंकारी रावण को मार गिराएंगे
धनुष बाण लेकर राम जाएंगे
भगवान राम आयेंगे।
प्रभु श्री राम…..

ओ तो सीता साथ लायेंगे
दुश्मन के छक्के छुड़ाएगें राम आयेंगे
हम सबको गले लगाएंगे
अयोध्या में हम दीप जलाएंगे,दीपावली मनाएंगे
राम आयेंगे।
प्रभु श्री राम…..

सीता साथ लायेंगे राम आयेंगे।
रामसेतु पार करके आयेंगे
राम आयेंगें
अयोध्या में सबका उद्धार करेंगे
राम आयेंगे
मन में खुशी की लहर दौड़ आयेंगे
राम आयेंगे
प्रभु श्रीराम आयेंगे
राम आयेंगे।
प्रभु श्री राम…..

रचनाकार
संतोष कुमार मिरी
शिक्षाक जिला दुर्ग

Language: Hindi
39 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
3278.*पूर्णिका*
3278.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कारगिल युद्ध के समय की कविता
कारगिल युद्ध के समय की कविता
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
वाह भाई वाह
वाह भाई वाह
Dr Mukesh 'Aseemit'
गर्म हवाओं ने सैकड़ों का खून किया है
गर्म हवाओं ने सैकड़ों का खून किया है
Anil Mishra Prahari
ज्ञान -दीपक
ज्ञान -दीपक
Pt. Brajesh Kumar Nayak
⚘छंद-भद्रिका वर्णवृत्त⚘
⚘छंद-भद्रिका वर्णवृत्त⚘
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मोहे वृंदावन न भायै, .....(ऊधो प्रसंग)
मोहे वृंदावन न भायै, .....(ऊधो प्रसंग)
पं अंजू पांडेय अश्रु
"नायक"
Dr. Kishan tandon kranti
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
देव्यपराधक्षमापन स्तोत्रम
पंकज प्रियम
Upon the Himalayan peaks
Upon the Himalayan peaks
Monika Arora
तुम्हारा एक दिन..…........एक सोच
तुम्हारा एक दिन..…........एक सोच
Neeraj Agarwal
फ़र्क़..
फ़र्क़..
Rekha Drolia
लोकशैली में तेवरी
लोकशैली में तेवरी
कवि रमेशराज
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ग़जब सा सिलसला तेरी साँसों का
ग़जब सा सिलसला तेरी साँसों का
Satyaveer vaishnav
प्रेम🕊️
प्रेम🕊️
Vivek Mishra
फाउंटेन पेन (बाल कविता )
फाउंटेन पेन (बाल कविता )
Ravi Prakash
जब  फ़ज़ाओं  में  कोई  ग़म  घोलता है
जब फ़ज़ाओं में कोई ग़म घोलता है
प्रदीप माहिर
उलझते रिश्तो में मत उलझिये
उलझते रिश्तो में मत उलझिये
Harminder Kaur
एक मैं हूँ, जो प्रेम-वियोग में टूट चुका हूँ 💔
एक मैं हूँ, जो प्रेम-वियोग में टूट चुका हूँ 💔
The_dk_poetry
हे देवाधिदेव गजानन
हे देवाधिदेव गजानन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
#justareminderdrarunkumarshastri
#justareminderdrarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
International Camel Year
International Camel Year
Tushar Jagawat
आंखों की गहराई को समझ नहीं सकते,
आंखों की गहराई को समझ नहीं सकते,
Slok maurya "umang"
भतीजी (लाड़ो)
भतीजी (लाड़ो)
Kanchan Alok Malu
अगर.... किसीसे ..... असीम प्रेम करो तो इतना कर लेना की तुम्ह
अगर.... किसीसे ..... असीम प्रेम करो तो इतना कर लेना की तुम्ह
पूर्वार्थ
#संडे_स्पेशल
#संडे_स्पेशल
*प्रणय प्रभात*
कहाँ है मुझको किसी से प्यार
कहाँ है मुझको किसी से प्यार
gurudeenverma198
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
यूँही चलते है कदम बेहिसाब
यूँही चलते है कदम बेहिसाब
Vaishaligoel
Loading...