Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Nov 2022 · 1 min read

पूर्व दिशा से सूरज रोज निकलते हो

पूर्व दिशा से सूरज रोज निकलते हो
लाल आग के गोले जैसे लगते हो

अपनी किरणों का तुम जाल बिछा देते
विदा निशा को करके कितना हँसते हो

नया सवेरा लाता है उम्मीद नई
ये समझाकर दूर निराशा करते हो

कोई आँखें तुमसे मिला न पाता है
आसमान में कितना तेज़ चमकते हो

कड़ी धूप में बैठ ही नहीं पाते हम
तुम इतनी गर्मी को कैसे सहते हो

पश्चिम में जाकर गायब हो जाते तुम
बतलाओ वो पता जहाँ पर रहते हो

05-11-2022
डॉ अर्चना गुप्ता

4 Likes · 4 Comments · 49 Views
You may also like:
अपने नाम का भी एक पन्ना, ज़िन्दगी की सौग़ात कर...
Manisha Manjari
Advice
Shyam Sundar Subramanian
जिंदगी की डगर में मुझको
gurudeenverma198
गम होते हैं।
Taj Mohammad
नया साल
Dr Archana Gupta
तटस्थ बुद्धिजीवी
Shekhar Chandra Mitra
आंखों के दपर्ण में
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
■■★परमात्मनः शक्ति:★■■
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ग्रहण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
भुलाने की कोशिश में तुझे याद कर जाता हूँ
Writer_ermkumar
- मेरा ख्वाब मेरी हकीकत
bharat gehlot
ग्रामीण चेतना के महाकवि रामइकबाल सिंह ‘राकेश
श्रीहर्ष आचार्य
जिंदगी का आखिरी सफर
ओनिका सेतिया 'अनु '
दुनिया भय मुक्त बनाना है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
महाराणा प्रताप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मुहब्बत फूल होती है मगर
shabina. Naaz
हिन्दू धर्म और अवतारवाद
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
✍️सुर गातो...!✍️
'अशांत' शेखर
श्रद्धा
मनोज कर्ण
गीता की महत्ता
Pooja Singh
जिन्दगी मे कोहरा
Anamika Singh
ना कर नजरअंदाज
Seema 'Tu hai na'
किसी के मेयार पर
Dr fauzia Naseem shad
तांका
Ajay Chakwate *अजेय*
गज़ल
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
उजालों के घर
सूर्यकांत द्विवेदी
" मेरी प्यारी नींद"
Dr Meenu Poonia
सपना या हकीकत (लघु कथा)
Ravi Prakash
हर फौजी की कहानी
Dalveer Singh
शुरुआत की देर है बस
Buddha Prakash
Loading...