Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Dec 2023 · 1 min read

*****नियति*****

जीवन रंगमंच एक पहेली
नियति चलती संग सहेली
सुप्त आस ही प्रतिक्षण चली
साँझ की बेला बरबस ढली।

हिय में कहीं साज न सजा
रंग ये विरस,अनाम सा बना
कहीं दूर उपवन निहारती
कभी नेह सिहरन पुकारती।

नियति ही तेरी मेरे जैसी
विडंबना ये निसदिन कैसी
कहीं शीला सी अडिग बनी
सरिता सी कभी सरल बनी

मौसम तब असंख्य हो आये
विभा,तमस दिखला ही जाये
अनुराग संग अनवरत ठहरना
समीर सी सरल तरल बहना।

कब अवनी पीयूष को तरसी
बूँद वसुधा पे एक न बरसी
शुष्क बन अमी को पुकारे
रवि विहीन सदन अँधियारे।

इक आस तो कभी बंधी सी
अनायास कहीं थमी हुई सी
उपजे हिय इक धवल आशा
दमके अंतस्थल नव प्रत्याशा।

✍️”कविता चौहान”
स्वरचित एवं मौलिक

1 Like · 142 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मां जब मैं तेरे गर्भ में था, तू मुझसे कितनी बातें करती थी...
मां जब मैं तेरे गर्भ में था, तू मुझसे कितनी बातें करती थी...
Anand Kumar
मन करता है अभी भी तेरे से मिलने का
मन करता है अभी भी तेरे से मिलने का
Ram Krishan Rastogi
सियासत
सियासत
हिमांशु Kulshrestha
वक्त और हालात जब साथ नहीं देते हैं।
वक्त और हालात जब साथ नहीं देते हैं।
Manoj Mahato
"प्लेटो ने कहा था"
Dr. Kishan tandon kranti
#मायका #
#मायका #
rubichetanshukla 781
2630.पूर्णिका
2630.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"वो ख़तावार है जो ज़ख़्म दिखा दे अपने।
*Author प्रणय प्रभात*
सच्चा धर्म
सच्चा धर्म
Dr. Pradeep Kumar Sharma
घबराना हिम्मत को दबाना है।
घबराना हिम्मत को दबाना है।
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जिंदगी, क्या है?
जिंदगी, क्या है?
bhandari lokesh
मैयत
मैयत
शायर देव मेहरानियां
"चांद पे तिरंगा"
राकेश चौरसिया
Being an ICSE aspirant
Being an ICSE aspirant
Sukoon
" नाराज़गी " ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
घर
घर
Dr MusafiR BaithA
पूरा कुनबा बैठता, खाते मिलकर धूप (कुंडलिया)
पूरा कुनबा बैठता, खाते मिलकर धूप (कुंडलिया)
Ravi Prakash
मेरे भोले भण्डारी
मेरे भोले भण्डारी
Dr. Upasana Pandey
हाइपरटेंशन(ज़िंदगी चवन्नी)
हाइपरटेंशन(ज़िंदगी चवन्नी)
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
💐प्रेम कौतुक-399💐
💐प्रेम कौतुक-399💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
*अभी तो रास्ता शुरू हुआ है.*
Naushaba Suriya
भारत माता की वंदना
भारत माता की वंदना
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
काँच और पत्थर
काँच और पत्थर
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
किसी भी सफल और असफल व्यक्ति में मुख्य अन्तर ज्ञान और ताकत का
किसी भी सफल और असफल व्यक्ति में मुख्य अन्तर ज्ञान और ताकत का
Paras Nath Jha
काव्य_दोष_(जिनको_दोहा_छंद_में_प्रमुखता_से_दूर_रखने_ का_ प्रयास_करना_चाहिए)*
काव्य_दोष_(जिनको_दोहा_छंद_में_प्रमुखता_से_दूर_रखने_ का_ प्रयास_करना_चाहिए)*
Subhash Singhai
अपने आमाल पे
अपने आमाल पे
Dr fauzia Naseem shad
बद मिजाज और बद दिमाग इंसान
बद मिजाज और बद दिमाग इंसान
shabina. Naaz
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sakshi Tripathi
Loading...