Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Apr 2017 · 2 min read

नवगीत

आखिर कब तक लज्जा ढोये

‘शब्दों पर पहरे हैं’ फिर भी
‘पंखुड़ियों पर गीत’

‘लिखने का कारण’ ‘अंधायुग’
है ‘मुर्दों का गाँव’
‘पल्लव’ ‘परिमल’ ‘कालजयी’ है
‘सात घरों का गाँव’
‘एक समय था’ ‘नई इमारत’
रची नया संगीत

‘चंद हसीनों की खुतूत’ पर
‘बुधुवा की बेटी’
‘उड़ने की मुद्रा में’ अब है
धूप कहीं लेटी
‘सिकहर से भिनसहरा’ छेड़े
नया तराना मीत

‘‘हरसिंगार कोई तो हो’
है उपवन का सौरभ
‘कागज का टुकड़ा’ पैसा है
जिस पर है नाचा नभ
‘हारी हुई लड़ाई लड़ते’
‘सत्यप्रेम’ के प्रीत

‘आखिर कब तक’ ‘लज्जा’ ढोये
‘गंगा का बेटा’
‘दिल्ली का दलाल’ है जब तक
आंगन में लेटा
‘प्रेत और छाया’ के घर में
पौरुष जाये जीत

कुछ ‘सन्यासी’ हों ‘कबीर’ लें
‘नारद की वीणा’
हर ‘हल्दी के छापे’ पढ़ लें
आदम की पीड़ा
उड़ ‘जहाज का पंछी’ गाये
गीत और नवगीत

मित्रो ! इस रचना में इन साहित्यकारों की पुस्तकों के नामों को समाहित किया गया है और पुस्तकों के नाम ‘……’ में दिये गये हैं. प्रयास और एक प्रयोग आपके समक्ष है….निर्णय आपका ….

नवगीतकार सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’- ‘परिमल’
गीतकार सुमित्रानंदन पंत- ‘पल्लव’
नाटककार पंडित लक्ष्मी नारायण मिश्र- ‘कालजयी’ , ‘संन्यासी’ , ‘नारद की वीणा’
साहित्यकार ठाकुर प्रसाद सिंह- ‘हारी हुई लड़ाई लड़ते’ , ‘सात घरों का गाँव’ , ‘कबीर’ ,
गीतकार पंडित रामेश्वर शुक्ल अंचल- ‘नई इमारत’
व्याकरणाचार्य पंडित कामता प्रसाद गुरु- ‘सत्यप्रेम’
अशोक गीते- ‘शब्दों पर पहरे हैं’ , ‘पंखुड़ियों पर गीत’
कवि रघुवीर सहाय- ‘लिखने का कारण’ , ‘एक समय था’
साहित्यकार धर्मवीर भारती- ‘अंधायुग’ , ‘मुर्दों का गाँव’
पाण्डेय बेचन शर्मा ‘उग्र’- ‘चंद हसीनों के खुतूत’ , ‘बुधुवा की बेटी’ , ‘दिल्ली का दलाल’ , ‘गंगा का बेटा’
कथाकार पंडित इलाचंद जोशी- ‘लज्जा’ , ‘प्रेत और छाया’ , ‘जहाज का पंछी’
डा. माहेश्वर तिवारी- ‘हरसिंगार कोई तो हो’
डा. मधुकर अष्ठाना- ‘सिकहर से भिनसहरा’
अनिरुद्ध नीरव- ‘उड़ने की मुद्रा में’
अवनीश सिंह चौहान- ‘कागज का टुकड़ा’
बनवारीलाल गौड़- ‘आखिर कब तक’
अवध बिहारी श्रीवास्तव- ‘हल्दी के छापे’
साहित्यकारों के नाम बस अपनी सुविधा के क्रम में रखे गये हैं.कृपया वरिष्टता से न जोड़ें.

शिवानन्द सिंह ‘सहयोगी’
मेरठ

Language: Hindi
396 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सत्य ही शिव
सत्य ही शिव
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
इक्कीस मनकों की माला हमने प्रभु चरणों में अर्पित की।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
"माँ"
इंदु वर्मा
■ मेरे अपने संस्मरण
■ मेरे अपने संस्मरण
*Author प्रणय प्रभात*
शब्द
शब्द
Paras Nath Jha
बाबा साहब अंबेडकर का अधूरा न्याय
बाबा साहब अंबेडकर का अधूरा न्याय
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
रामलला
रामलला
Saraswati Bajpai
जीवन जितना
जीवन जितना
Dr fauzia Naseem shad
बढ़े चलो ऐ नौजवान
बढ़े चलो ऐ नौजवान
नेताम आर सी
बच्चे पढ़े-लिखे आज के , माँग रहे रोजगार ।
बच्चे पढ़े-लिखे आज के , माँग रहे रोजगार ।
Anil chobisa
मिले
मिले
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
दूषित न कर वसुंधरा को
दूषित न कर वसुंधरा को
goutam shaw
सुरभित - मुखरित पर्यावरण
सुरभित - मुखरित पर्यावरण
संजय कुमार संजू
2506.पूर्णिका
2506.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
चिड़िया
चिड़िया
Kanchan Khanna
साजिशें ही साजिशें...
साजिशें ही साजिशें...
डॉ.सीमा अग्रवाल
अशोक महान
अशोक महान
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
अपनी टोली
अपनी टोली
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
तेरे दुःख की गहराई,
तेरे दुःख की गहराई,
Buddha Prakash
प्यार का यह सिलसिला चलता रहे।
प्यार का यह सिलसिला चलता रहे।
surenderpal vaidya
दिल को दिल से खुशी होती है
दिल को दिल से खुशी होती है
shabina. Naaz
Dr. Arun Kumar Shastri
Dr. Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Rebel
Rebel
Shekhar Chandra Mitra
Many more candles to blow in life. Happy birthday day and ma
Many more candles to blow in life. Happy birthday day and ma
DrLakshman Jha Parimal
(वक्त)
(वक्त)
Sangeeta Beniwal
"इतिहास"
Dr. Kishan tandon kranti
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
इन फूलों से सीख ले मुस्कुराना
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
प्रेम और सद्भाव के रंग सारी दुनिया पर डालिए
प्रेम और सद्भाव के रंग सारी दुनिया पर डालिए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...