Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Feb 2024 · 1 min read

धरा और इसमें हरियाली

धरा और इसमें हरियाली,
यहाँ जीवन और जीवित है प्राणी,
सौर मंडल का एकलौता ग्रह,
नीला ग्रह पृथ्वी है हरा भरा।

जल और थल से मिलकर बना,
वायुमंडल से है सम्पूर्ण घिरा,
सुरक्षा कवच प्राणियों के लिए बना,
पर्यावरण बहुत ही है बढ़िया।

सागर झील नदिया झरना और सरोवर,
पहाड़ पठार मैदान और मरुस्थल भूमि,
जंगल खेत बाग बगीचे और हरे पेड़,
चारो ओर है सुंदर परिवेश।

अपने पर्यावरण को पढ़े जरूर,
पर्यावरण सुरक्षित आप सुरक्षित,
पर्यावरण से जीवन है जुड़ा,
इसको बचाना कर्तव्य है सबका।

रचनाकार –
बुद्ध प्रकाश,
मौदहा हमीरपुर।

Language: Hindi
1 Like · 78 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Buddha Prakash
View all
You may also like:
बेटियाँ
बेटियाँ
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
श्याम दिलबर बना जब से
श्याम दिलबर बना जब से
Khaimsingh Saini
पिता
पिता
विजय कुमार अग्रवाल
बलिदान
बलिदान
Shyam Sundar Subramanian
अंतर्जाल यात्रा
अंतर्जाल यात्रा
Dr. Sunita Singh
आइये, तिरंगा फहरायें....!!
आइये, तिरंगा फहरायें....!!
Kanchan Khanna
यात्राएं करो और किसी को मत बताओ
यात्राएं करो और किसी को मत बताओ
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
बुद्ध ही बुद्ध
बुद्ध ही बुद्ध
Shekhar Chandra Mitra
सब अपनो में व्यस्त
सब अपनो में व्यस्त
DrLakshman Jha Parimal
" लो आ गया फिर से बसंत "
Chunnu Lal Gupta
जिंदगी को रोशन करने के लिए
जिंदगी को रोशन करने के लिए
Ragini Kumari
*आया भैया दूज का, पावन यह त्यौहार (कुंडलिया)*
*आया भैया दूज का, पावन यह त्यौहार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
2858.*पूर्णिका*
2858.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
55 रुपए के बराबर
55 रुपए के बराबर
*Author प्रणय प्रभात*
खत
खत
Punam Pande
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
विनती सुन लो हे ! राधे
विनती सुन लो हे ! राधे
Pooja Singh
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
यही सोचकर इतनी मैने जिन्दगी बिता दी।
यही सोचकर इतनी मैने जिन्दगी बिता दी।
Taj Mohammad
जीतेंगे हम, हारेगा कोरोना
जीतेंगे हम, हारेगा कोरोना
Dr. Pradeep Kumar Sharma
💐अज्ञात के प्रति-93💐
💐अज्ञात के प्रति-93💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हिंदी गजल
हिंदी गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सृजन के जन्मदिन पर
सृजन के जन्मदिन पर
Satish Srijan
रूह का भी निखार है
रूह का भी निखार है
Dr fauzia Naseem shad
जो ना कहता है
जो ना कहता है
Otteri Selvakumar
बाल्यकाल (मैथिली भाषा)
बाल्यकाल (मैथिली भाषा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
Anil chobisa
अन्ना जी के प्रोडक्ट्स की चर्चा,अब हो रही है गली-गली
अन्ना जी के प्रोडक्ट्स की चर्चा,अब हो रही है गली-गली
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
5 हाइकु
5 हाइकु
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...