Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2024 · 1 min read

“दो नावों पर”

“दो नावों पर”
दो नावों पर सवार होकर
तुम मुश्किल में पड़े हो,
क्योंकि तुम दोनों नावों में
सिर्फ आधे-आधे खड़े हो.

6 Likes · 4 Comments · 112 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
अनोखा दौर
अनोखा दौर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
आर.एस. 'प्रीतम'
अस्तित्व की ओट?🧤☂️
अस्तित्व की ओट?🧤☂️
डॉ० रोहित कौशिक
*दिल कहता है*
*दिल कहता है*
Kavita Chouhan
-- धरती फटेगी जरूर --
-- धरती फटेगी जरूर --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
जिंदगी
जिंदगी
sushil sarna
रामराज्य
रामराज्य
Suraj Mehra
Love whole heartedly
Love whole heartedly
Dhriti Mishra
वसंत पंचमी
वसंत पंचमी
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
"Sometimes happiness and peace come when you lose something.
पूर्वार्थ
"रंग"
Dr. Kishan tandon kranti
गांव और वसंत
गांव और वसंत
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जीवन है मेरा
जीवन है मेरा
Dr fauzia Naseem shad
जब आपका ध्यान अपने लक्ष्य से हट जाता है,तब नहीं चाहते हुए भी
जब आपका ध्यान अपने लक्ष्य से हट जाता है,तब नहीं चाहते हुए भी
Paras Nath Jha
कविता : आँसू
कविता : आँसू
Sushila joshi
आप जब तक दुःख के साथ भस्मीभूत नहीं हो जाते,तब तक आपके जीवन क
आप जब तक दुःख के साथ भस्मीभूत नहीं हो जाते,तब तक आपके जीवन क
Shweta Soni
सच तो बस
सच तो बस
Neeraj Agarwal
#ग़ज़ल
#ग़ज़ल
*प्रणय प्रभात*
शिमला
शिमला
Dr Parveen Thakur
2490.पूर्णिका
2490.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
" ऐसा रंग भरो पिचकारी में "
Chunnu Lal Gupta
बढ़कर बाणों से हुई , मृगनयनी की मार(कुंडलिया)
बढ़कर बाणों से हुई , मृगनयनी की मार(कुंडलिया)
Ravi Prakash
वक़्त के वो निशाँ है
वक़्त के वो निशाँ है
Atul "Krishn"
गुलाबों सी महक है तेरे इन लिबासों में,
गुलाबों सी महक है तेरे इन लिबासों में,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
माँ ऐसा वर ढूंँढना
माँ ऐसा वर ढूंँढना
Pratibha Pandey
पर्यावरण दिवस पर विशेष गीत
पर्यावरण दिवस पर विशेष गीत
बिमल तिवारी “आत्मबोध”
"माँ का आँचल"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मनोकामनी
मनोकामनी
Kumud Srivastava
जब किसी व्यक्ति और महिला के अंदर वासना का भूकम्प आता है तो उ
जब किसी व्यक्ति और महिला के अंदर वासना का भूकम्प आता है तो उ
Rj Anand Prajapati
ज़िन्दगी एक उड़ान है ।
ज़िन्दगी एक उड़ान है ।
Phool gufran
Loading...