Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Feb 2021 · 1 min read

तुम

तुम

तुम ना होकर भी

मेरे जीवन में हो।

उसी तरह

जैसे फूलों में खुशबू,

जैसे सागर में मोती,

नदिया में लहरें,

हवाओं में ठंडक,

अग्नि में तपन,

तुम हो श्वास-श्वास में,

तुम हो मेरे प्राण,

तुम हृदय की धड़कन में,

मेरी जिजीविशा बनकर,

मेरी प्रेरणा,

मेरी शक्ति,

वास्तव में तुम ना होकर भी,

मेरे लिए बहुत कुछ हो।

तुम्हारे बिना मेरे वजूद की

कल्पना भी नहीं की जा सकती।

तुम मेरा जीवन हो।

अभी के लिए इतना कहना ही

प्रयाप्त होगा ।

17 Likes · 80 Comments · 896 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from ओनिका सेतिया 'अनु '
View all
You may also like:
"अपदस्थ"
Dr. Kishan tandon kranti
*शक्तिपुंज यह नारी है (मुक्तक)*
*शक्तिपुंज यह नारी है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
मेरी प्यारी सासू मां, मैं बहुत खुशनसीब हूं, जो मैंने मां के
मेरी प्यारी सासू मां, मैं बहुत खुशनसीब हूं, जो मैंने मां के
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
धर्म अधर्म की बाते करते, पूरी मनवता को सतायेगा
धर्म अधर्म की बाते करते, पूरी मनवता को सतायेगा
Anil chobisa
दो पल देख लूं जी भर
दो पल देख लूं जी भर
आर एस आघात
*याद है  हमको हमारा  जमाना*
*याद है हमको हमारा जमाना*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
ममता का सागर
ममता का सागर
भरत कुमार सोलंकी
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
मुजरिम करार जब कोई क़ातिल...
मुजरिम करार जब कोई क़ातिल...
अश्क चिरैयाकोटी
कर्म कांड से बचते बचाते.
कर्म कांड से बचते बचाते.
Mahender Singh
क्या कहें
क्या कहें
Dr fauzia Naseem shad
जो बीत गयी सो बीत गई जीवन मे एक सितारा था
जो बीत गयी सो बीत गई जीवन मे एक सितारा था
Rituraj shivem verma
रोज हमको सताना गलत बात है
रोज हमको सताना गलत बात है
कृष्णकांत गुर्जर
दूषित न कर वसुंधरा को
दूषित न कर वसुंधरा को
goutam shaw
वक़्त की आँधियाँ
वक़्त की आँधियाँ
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
बोलो क्या लफड़ा है
बोलो क्या लफड़ा है
gurudeenverma198
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
आशा की एक किरण
आशा की एक किरण
Mamta Rani
2802. *पूर्णिका*
2802. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पहले क्या करना हमें,
पहले क्या करना हमें,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नदिया के पार (सिनेमा) / MUSAFIR BAITHA
नदिया के पार (सिनेमा) / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
परहेज बहुत करते है दौलतमंदो से मिलने में हम
परहेज बहुत करते है दौलतमंदो से मिलने में हम
शिव प्रताप लोधी
हिम्मत मत हारो, नए सिरे से फिर यात्रा शुरू करो, कामयाबी ज़रूर
हिम्मत मत हारो, नए सिरे से फिर यात्रा शुरू करो, कामयाबी ज़रूर
Nitesh Shah
मन मंदिर के कोने से
मन मंदिर के कोने से
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
ये शिकवे भी तो, मुक़द्दर वाले हीं कर पाते हैं,
ये शिकवे भी तो, मुक़द्दर वाले हीं कर पाते हैं,
Manisha Manjari
🙅ताज़ा सलाह🙅
🙅ताज़ा सलाह🙅
*प्रणय प्रभात*
फकीरी
फकीरी
Sanjay ' शून्य'
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
अक्सर कोई तारा जमी पर टूटकर
'अशांत' शेखर
तब गाँव हमे अपनाता है
तब गाँव हमे अपनाता है
संजय कुमार संजू
मनुष्य का उद्देश्य केवल मृत्यु होती हैं
मनुष्य का उद्देश्य केवल मृत्यु होती हैं
शक्ति राव मणि
Loading...